हिंदी से रोचक व मधुर भाषा पूरी दुनिया में नहीं : डॉ. राजपाल

newspoint24.com/newsdesk

हिसार । गोरखपुर हरियाणा अणु विद्युत परियोजना की राजभाषा कार्यान्वयन समिति की ओर से रविवार को विश्व हिंदी दिवस के उपलक्ष में अधिकारियों व कर्मचारियों को हिंदी भाषा की कार्यालयी प्रयोग की जानकारी देने के उद्देश्य से विशेष व्याख्यान कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस व्याख्यान कार्यक्रम में राजकीय महाविद्यालय हिसार के हिंदी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर राजपाल ने विषय विशेषज्ञ के तौर पर व्याख्यान दिया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर गोरखपुर हरियाणा अणु विद्युत परियोजना के निदेशक पुनीत स्वरूप पाठक ने शिरकत की। अपने संबोधन में डॉ. राजपाल ने कहा कि हिंदी हमारे देश की राष्ट्रभाषा होने के साथ-साथ राजभाषा भी है लेकिन जब तक हिंदी के प्रचार व प्रसार पर अधिकारिक तौर पर जोर नहीं दिया जाएगा तब तक हिंदी का विकास जन-जन तक नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि हिंदी भाषा, जिसकी लिपि देवनागरी है, यह पूरे विश्व की एकमात्र वैज्ञानिक लिपि है। हिंदी भाषा एक ऐसी भाषा है, जिसमें जैसा बोला जाता है वैसा ही लिखा जाता है। वास्तव में हिंदी जितनी रोचक, मधुर और प्यारी भाषा इस पूरी दुनिया में नहीं है।इस अवसर पर गोरखपुर हरियाणा अणु विद्युत परियोजना के मानव संसाधन विभाग के वरिष्ठ प्रबंधक होशियार सिंह, मुख्य निर्माण अभियंता रघुपति राय व शैलेंद्र कुमार मीणा सहित अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

Share this story