पंजाब में धरना देने वाले सियासी नेताओं तथा कार्यकर्ताओं के विरुद्ध मामले दर्ज करने के निर्देश

Newspoint24 /newsdesk Instructions to register cases against political leaders and activists who are on strike in Punjab

Newspoint24 /newsdesk   

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पिछले कुछ दिनों से धरना दे रहे विरोधी पक्ष के नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ आपदा प्रबंधन एक्ट के तहत मामले दर्ज किये जाने के निर्देश दिये हैं।


शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी (आप) की ऐसी गतिविधियों को गैर जिम्मेदाराना और महामारी के फैलाव के मद्देनजर सख्त पाबंदियों की घोर उल्लंघना करार देते हुये मुख्यमंत्री ने डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता को कहा कि इस कानून के अंतर्गत ऐसे नेताओं के खिलाफ कार्यवाही की जाये।


मुख्यमंत्री ने आज यहां कहा कि जब ऐसे समय जब लोग विवाहों और संस्कारों तक में भी इकठ्ठा नहीं हो सकते तो इन पार्टियों के नेताओं और वर्करों का मनमाना व्यवहार दर्शाता है कि उनको पंजाबियों की सेहत पर सुरक्षा की कोई चिंता नहीं है। इस तरह के व्यवहार को कदाचित बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।


आप के कल के धरने को राज्य में लागू वीकैंड कर्फ्यू का उल्लंघन करार देते हुये कैप्टन सिंह ने कहा कि ऐसे धरने और राजनीतिक सभा महामारी के बड़े स्तर पर फैलाव का कारण बन सकते हैं और इनसे कठोरता से निपटना पड़ेगा। उन्होंने श्री दिनकर को कहा कि कानून को अपना काम करना चाहिए। यह समय सियासी पैंतरेबाजी और घटिया हथकंडे अपनाने का नहीं, बल्कि इस महामारी के खात्मे के लिए इकठ्ठा मिलकर लड़ने का है।

Share this story