मनीष हत्याकांड में आरोपी दरोगा राहुल दुबे और कांस्टेबल प्रशांत अरेस्ट अब तक पकड़े गए 

मनीष हत्याकांड में आरोपी दरोगा राहुल दुबे और कांस्टेबल प्रशांत अरेस्ट अब तक पकड़े गए

Newspoint24 / newsdesk / एजेंसी इनपुट के साथ 


लखनऊ। 27 सितंबर की देर रात गोरखपुर के होटल में जिन पुलिसवालों ने मनीष को पीट-पीटकर मार डाला था उनमें से आरोपी दरोगा राहुल दुबे और कांस्टेबल प्रशांत को आज पुलिस ने अरेस्ट कर लिया। गोरखपुर एसपी सिटी सोनम कुमार ने कहा कि  दो अन्य आरोपित पुलिस वालों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों के ऊपर 1 लाख रुपए का इनाम था। सूत्रों ने बताया कि हत्यारोपित दरोगा विजय यादव और राहुल दूबे को रामगढ़ताल इलाके से ही गिरफ्तारी दिखाई जाएगी। रात में दोनों को जेल भेजने की तैयारी है।

इसके पहले इस मामले के दो मुख्य हत्यारोपित इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा को गत रविवार को ही पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। दोनों इस वक्त मंडलीय कारागार में हैं। 6 आरोपितों में अधिकांश के घरों और रिश्तेदारों के ठिकानों पर पुलिस की 16 टीमें लगातार दबिश दे रही हैं।

इस मामले में दर्ज केस में एसआईटी ( SIT )  ने साक्ष्य मिटाने और किसी वारदात को एक साथ मिलकर अंजाम देने का केस भी दर्ज किया है। जबकि अब तक की जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर एसआईटी ( SIT) इस मामले में हत्या के केस में चार्जशीट लगा सकती है।

फिलहाल एसआईटी ने आरोपितों की रिमांड के लिए अब तक कोर्ट में कोई आवेदन नहीं दिया है। अधिकारी सभी आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही उनकी रिमांड लेंगे।
 
मृतक की पत्नी मीनाक्षी ने पुलिस को दी तहरीर में 6 पुलिसकर्मियों को हत्या का दोषी ठहराते हुए नामजद किया था। इनमें इंस्पेक्टर रामगढ़ताल जेएन सिंह, चौकी इंचार्ज फलमंडी अक्षय मिश्रा, सब इंस्पेक्टर विजय यादव के खिलाफ केस दर्ज किया गया है, जबकि तहरीर में नामजद किए गए सब इंस्पेक्टर राहुल दुबे, हेड कांस्टेबल कमलेश यादव, कांस्टेबल प्रशांत कुमार की जगह 3 अज्ञात ​पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज हुआ।

 

Share this story