नेपाली बाघिन के प्यार में दीवाना हुआ भारतीय बाघ ,जानें क्या है पूरा मामला

Indian tiger fell in love with Nepalese tigress, know what is the whole matter

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

 
पटना। बिहार में पश्चिम चंपारण जिले के वाल्मिकीनगर टाइगर रिजर्व क्षेत्र में एक भारतीय बाघ ने नेपाली बाघिन के प्यार में पागल होकर एक शावक बाघिन की जान ले ली। इस दिलचस्प मामले के सामने आने के बाद वन विभाग के अधिकारी जांच में जुट गये हैं। वन विभाग के कर्मियों का कहना है कि एक बाघ ने शावक बाघ की सिर्फ इसलिए हत्या कर दी क्योंकि वह बाघिन के प्यार में बड़ी बाधा बन गया था।

जंगल से आठ माह की एक मादा शावक का शव बरामद किया गया है। वन विभाग के एक अधिकारी के अनुसार कि वाल्मीकि टाइगर रिजर्व क्षेत्र के कालेश्वर मंदिर के पास से सोनहा नदी के किनारे एक शावक का शव बरामद किया गया है। उन्होंने बताया कि जिस नदी के पास से शव बरामद किया गया है, वह भारत और नेपाल की सीमाओं को बांटती है।

मौत के कारणों का सही पता लगाया जा रहा

मौत के कारणों का सही पता लगाया जा रहा है। हालांकि प्रथम दृष्टया मौत का कारण आपसी संघर्ष बताया जा रहा है। वाल्मीकिनगर टाइगर रिजर्व क्षेत्र के वन संरक्षक सह निदेशक हेमकांत राय ने बताया कि मृत शावक के सभी अंग सुरक्षित हैं, शव पर कहीं भी जख्म के निशान नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि शावक के बिसरा को सुरक्षित रख लिया गया है, जिसे देहरादून, बरेली और पटना वेटनरी कॉलेज जांच के लिए भेजने की व्यवस्था की जा रही है। निदेशक की माने तो तीन और चार जनवरी को इस क्षेत्र के पास एक बाघिन को देखा गया था। इसका मिलान करने पर पता चला कि वह नेपाल की रहने वाली थी।

वहीं, एक बाघ को भी देखा गया था। वह भारत का रहने वाला है। उसे पहले भी चिन्हित किया गया है। राय ने बताया कि प्रथम दृष्टया लगता है कि बाघ-बाघिन के साथ मेटिंग करना चाह रहा होगा, जिसमें संभवत: शावक बाधा बन रही होगी। इसी कारण अपनी प्रवृत्ति के कारण बाघ ने शावक को मार डाला होगा। बाघिन का पग मार्ग नेपाल की तरफ जाते हुए देखा गया है।

यह भी पढ़ें : 

माउंट में माइनस 2 डिग्री हुआ रिकॉर्ड पारा, मौसम में आए ट्विस्ट से सैलानी रोमांचित

Share this story