इंदौर में आयकर विभाग का छापा, दूसरे दिन भी कार्रवाई जारी

Newspoint24.com/newsdesk/


इंदौर । मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में रीयल एस्टेट और अनाज कारोबारियों के यहां बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी की आशंका में आयकर विभाग द्वारा मंगलवार को शुरू हुई छापामार कार्रवाई बुधवार को दूसरे दिन भी जारी है। विभागीय अधिकारी अलग-अलग टीमों में पुलिस बल की मौजूदगी में 15 ठिकानों पर दस्तावेज खंगाल रहे हैं।

आयकर की इंवेस्टीगेशन विंग द्वारा शहर के जेआरजी रियलिटी और उससे जुड़ी तीन कंपनियों के खिलाफ मंगलवार सुबह छापा मार कार्रवाई शुरू की थी। इन कंपनियों के भागीदार और हिसाब-किताब देखने वाले कुल 22 लोगों के ठिकानों पर कार्रवाई जारी है। इनमें जेआरजी ग्रुप के संचालक और भागीदार, घनश्याम गोयल, तिलक गोयल, रोशन पोरवाल, अनिल धाकड़, आरएनटी मार्ग की मिलिंद मेनोर बिल्डिंग में ग्रुप के कार्पोरेट दफ्तर, डकाच्या में विकसित लॉजिस्टिक पार्क, टेलीफोन नगर, साकेत नगर, मल्हारगंज, पालदा व अन्य क्षेत्रों में समूह में भागीदारों के दफ्तरों और घरों सहित 13 ठिकानों पर विभागीय की अलग-अलग टीम पुलिस बल के साथ मौजूद है और दस्तावेज खंगालने में जुटी है। 

जानकारी मिली है कि अलग-अलग रीयल एस्टेट प्रोजेक्ट, कॉलोनियों के साथ दाल और अनाज के सौदों में अघोषित आय को खपाने और सफेद करने की जानकारी मिलने के बाद यह कार्रवाई शुरू हुई। आयकर अधिकारियों को अब तक कुल 14 लॉकर मिल चुके थे। सभी ठिकानों से करोड़ों में रुपये नकद बरामद हुए हैं। हालांकि, आयकर विभाग ने आंकड़ा जारी नहीं किया है। अधिकारी जांच में जुटे हैं। यह बता लगाया जा रहा है कि इसमें से कितनी नकदी खातों में दर्ज है और कितनी अघोषित है? साथ ही करोड़ों के लेन-देन की पर्चियां व कागज भी अधिकारियों के हाथ लगे हैं। विभाग की ओर से कहा गया है कि जांच अभी जारी है। कार्रवाई पूरी होने के बाद टैक्स चोरी और बरामदगी को लेकर कोई आंकड़ा जारी किया जाएगा।

Share this story