जौनपुर में संक्रमित अभियंता ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

जौनपुर में संक्रमित अभियंता ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

Newspoint24 / newsdesk  

जौनपुर।  उत्तर प्रदेश में जौनपुर के बक्सा इलाके के लखनीपुर गांव के पास कोरोना संक्रमित अभियंता ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी ।


पुलिस के अनुसार बक्सा इलाके के बेलापार निवासी सेवानिवृत्त खंड विकास अधिकारी व सपा ब्लाक इकाई के अध्यक्ष धर्मराज यादव कोरोना पीड़ित थे। सोमवार को अचानक उनकी तबीयत बेहद खराब हो गई। सांस टूटने लगी। स्वजन के लाख प्रयास करने के बाद भी आक्सीजन नहीं मिल सका और उनकी सांसें थम गईं। उनकी पत्नी शारदा देवी की भी हालत ठीक नहीं है।


मृत धर्मराज के दो पुत्रों में बड़े ललित यादव गांव में रहते हैं जबकि छोटे पुत्र पेशे से इंजीनियर अमित यादव (35) दिल्ली में नौकरी करते थे। पिता के देहांत व माता की हालत खराब होने की खबर सुनकर अमित बैग में लैपटाप लेकर ट्रेन से घर के लिए चल पड़े। भाई ललित से एक बार मोबाइल फोन पर बात हुई। इसके बाद अमित का मोबाइल फोन का स्वीच आफ बताने लगा।


पुलिस ने कहा कि अमित ने मंगलवार को बक्शा स्टेशन पहुंचने के बाद स्टेशन मास्टर से लखनीपुर गांव का लोकेशन व किसी ट्रेन के आने के बारे में पूछा। रेलवे लाइन किनारे-किनारे गांव की तरफ रवाना हुए। लखनीपुर गांव के पास पहुंचे तो जौनपुर की ओर बेगमपुरा एक्सप्रेस आती दिखी। अमित ने ट्रेन के आगे छलांग लगा दी। उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गई। तलाशी में पर्स में मिले कागजात के आधार पर पुलिस ने स्वजन को घटना की सूचना दी। पर्स में मिले सुसाइड नोट में अमित ने लिखा है कि आत्महत्या के लिए कोई दोषी नहीं है। वह कोरोना संक्रमित होने के कारण मौत को गले लगा रहा है ।

Share this story