वाराणसी के दौलतपुर में बड़े भाई ने पैतृक मकान बेचने का बनाया दबाब तो छोटे ने लगाई फांसी

वाराणसी के दौलतपुर में बड़े भाई ने पैतृक मकान बेचने का बनाया दबाब तो छोटे ने लगाई फांसी

Newspoint 24 / newsdesk 

वाराणसी। लालपुर पांडेयपुर थाना क्षेत्र के दौलतपुर इलाके में बुधवार को घरेलू कलह और सम्पति विवाद में एक 33 वर्षीय युवक ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

दौलतपुर मोहल्ले में एक इंटर कालेज की प्रधानाचार्य उषा शुक्ला ने अपना मकान बनवाया था। उषा शुक्ला के दो पुत्रों में बड़ा निखिल शुक्ला नोएडा में और छोटा पुत्र अखिल शुक्ला अपने परिवार के साथ मां के मकान में रहता था। पिछले साल कोरोना काल में उषा शुक्ला की मौत के बाद निखिल ने मकान को बेचने के लिए छोटे भाई पर दबाव बनाया। कोरोना काल में बेरोजगार अखिल मकान बेचने के पक्ष में नही था। लेकिन बड़े भाई के लगातार दबाव बनाने पर अखिल ने दोपहर में अपने कमरे में फांसी लगा ली। कुछ देर बाद अखिल की 07 वर्षीय बेटी जिम्मी की नजर पड़ी तो उसने जाकर अपनी मां पूजा शुक्ला को बताया कि पापा रस्सी गले में बांध कर लटके हुए है। यह सुन पूजा भागते हुए वहां पहुंची तो दरवाजा अंदर से बंद था। किसी तरह खिड़की से अंदर कमरे में पूजा ने देखा तो पति का मृत शरीर लटकता देख उसकी चीख निकल पड़ी। रोने की आवाज सुनकर किरायेदार वहां पहुंचे और घटना की जानकारी पुलिस को दी।

पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़कर शव को बाहर निकलवाया। पूछताछ के बाद शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस सम्बंध में क्षेत्रीय थाना प्रभारी ने बताया कि पूजा शुक्ला की तहरीर मिलेगी तो इस प्रकरण में जांच के बाद कार्यवाही होगी।

Share this story