हमीरपुर  : कोरोना संक्रमण के साथ ही भितरघात के कारण भाजपा के तमाम प्रत्याशियों ने गंवाई सीटें 

Hamirpur In the 17 seats of Zilla Panchayat, BJP-backed candidates have had to taste defeat due to the lethargy of the top party leaders

Newspont24 / newsdesk 

हमीरपुर। जिला पंचायत की 17 सीटों में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों को पार्टी के बड़े नेताओं की सुस्ती के कारण हार का स्वाद चखना पड़ा है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के साथ ही भितरघात ने भाजपा के दिग्गज प्रत्याशी हाशिये पर आ गये हैं। पंचायत चुनाव में सपा के मुकाबले भाजपा प्रत्याशियों का प्रदर्शन बहुत ही कमजोर रहा। 

जिले में जिला पंचायत की 17 सीटों पर मतगणना पिछले रविवार से करायी जा रही है। मंगलवार को दोपहर बाद 12 प्रत्याशियों को विजयी होने के प्रमाणपत्र दिये गये हैं। लेकिन अभी भी तमाम सीटों के परिणाम शाम तक भी नहीं आ सके। जिला पंचायत की झलोखर सीट पर बीएसपी प्रत्याशी अंजू पाल ने भाजपा प्रत्याशी को तगड़ा झटका दिया है। उन्हें 6199 मत मिले हैं जबकि भाजपा समर्थित सुनील पाठक 1059 मत पाकर पांचवें स्थान पर रहे। निर्दलीय प्रत्याशी ब्रह्म सिंह चंदेल 2717 मत पाकर दूसरे स्थान पर रहे। 

निवर्तमान जिला पंचायत सदस्य सौरभ यादव तीसरे स्थान पर रहे। इन्हें 2168 मत मिले। कुरारा देहात से भी भाजपा प्रत्याशी को करारी शिकस्त मिली है। यहां से निषाद पार्टी के वासुदेव ने 5614 मत पाकर जीत का परचम फहराया है। यहां भाजपा प्रत्याशी सिद्ध गोपाल मात्र 1841 मत पाकर चौथे स्थान पर रहे। सपा के गयाप्रसाद अनुरागी 3338 मत पाकर दूसरे स्थान पर रहे। इंगोहटा सीट से सपा प्रत्याशी नईम खान, छानी सीट पर ,सपा प्रत्याशी सुमन प्रजापति ने जीत का परचम फहराया है। हैरत की बात है कि छानी निवासी संत विलास शिवहरे भाजपा के क्षेत्रीय महामंत्री है और उनके क्षेत्र से ही भाजपा प्रत्याशी को सपा से पराजय का सामना देखना पड़ा। 

बिंवार सीट से निर्दलीय प्रत्याशी अनुज राजपूत ने सपा समर्थित सुभाष यादव को करीब एक हजार से अधिक मतों से पराजित कर जीत हासिल की है। जिला पंचायत की नौरंगा सीट से सपा प्रत्याशी विमलेश कुमारी 3370 मतों से विजयी घोषित की गयी है। वहीं रिहुंटा सीट से सपा प्रत्याशी रामसजीवन यादव दोबारा मतगणना में 471 मतों से विजयी हुये है। इन्हें 7458 मत मिले थे वहीं भाजपा प्रत्याशी प्रमोद सिंह तोमर 6987 मत पाकर दूसरे स्थान पर रहे।  सपा प्रत्याशी को विजयी होने का देर रात तक प्रमाणपत्र नहीं दिया गया। सपा से पराजित भाजपा समर्थित प्रत्याशी ने अपने बड़े नेताओं को फोन पर मतगणना दोबारा शुरू कराये जाने की मांग की।

 प्रत्याशी ने इस मामले की शिकायत भी जिला निर्वाचन अधिकारी से की है। जिसके बाद मंगलवार को गोहांड ब्लाक में दोबारा मतगणना शुरू कराने का फैसला लिया गया है। मतगणना फिलहाल अभी जारी है। इसके परिणाम भी देर रात तक आने की उम्मीद है। यहां भाजपा प्रत्याशी प्रमोद कुमार सिंह तोमर दूसरे स्थान पर रहे। बता दे कि भाजपा जिलाध्यक्ष बृजकिशोर गुप्ता कुरारा के रहने वाले हैं जो जिला पंचायत की क्षेत्र की दो सीटों पर अपने प्रत्याशियों को नहीं जिता पाये। 

पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष समेत पांच भाजपा कार्यकर्ताओं ने जीती सीटें 

जिला पंचायत की सैदपुर सीट से पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जयंती राजपूत ने भाजपा की लाज बचाते हुये साढ़े 5020 मतों से जीत का परचम फहराया है वहीं पौथिया सीट से भाजपा प्रत्याशी हरिओम सेंगर 3329 मतों से विजयी हुये है। अरतरा सीट पर भाजपा प्रत्याशी विजय पांडेय ने साढ़े तीन हजार मतों से जीत दर्ज करायी है। जबकि मुस्करा सीट पर भाजपा की सुनीता राजपूत करीब 3245 मतों से विजयी हुयी। 9518 मत मिले। जबकि जिला पंचायत की कुनेहटा सीट से दिनेश सिंह करीब 3500 से अधिक मत पाकर बसपा की माया दीक्षित को पराजित किया है। बिंवार सीट पर भी निर्दलीय प्रत्याशी अनुज राजपूत एक हजार से अधिक मतों से विजयी हुये है। जरिया सीट पर भाजपा प्रत्याशी को निर्दलीय प्रत्याशी मदन पासवान ने तगड़ा झटका दिया है। इन्होंने 4111 मतों से जीत का परचम फहराया है। इनके साथ लोधी महासभा के महेन्द्र राजपूत मंत्री खुलकर लगे थे। जिला पंचायत की सिसोलर सीट पर भी निर्दलीय प्रत्याशी संध्या पांडेय ने जीत का परचम फहराया है। उन्हें 2779 मत मिले है। जबकि प्रभा 2449 मत पाकर दूसरे स्थान पर रही। यहां भी भाजपा प्रत्याशी को बड़ा झटका लगा है। 

55 घंटे बाद इन विजयी प्रत्याशियों को मिला प्रमाणपत्र 

टेढ़ा सीट से रामदुलारी निर्वाचित हुयी है। उन्हें 6779 मत मिले है। वहीं पौथिया सीट से भाजपा प्रत्याशी हरिओम सिंह सेंगर ने 6352 मत पाकर  जीत दर्ज करायी है। जिला पंचायत की छानी खुर्द सीट से सपा समर्थित प्रत्याशी सुमन प्रजापति विजयी हुयी है। इन्हें 5966 मिले है जबकि इंगोहटा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी रज्जन सिंह निर्वाचित हुये है। उन्हें 5634 मत मिले है। 

 जिला पंचायत की बीरा सीट से भाजपा समर्थित दीपा देवी ने 6322 मत पाकर शानदार जीत दर्ज करायी है। जरिया सीट से निर्दलीय प्रत्याशी मदन पासवान 5178 मत पाकर विजयी घोषित किये गये है। वहीं जलालपुर सीट से सपा समर्थित प्रत्याशी वन्दना यादव निर्वाचित हुयी है। इन्हें 13581 मत मिले है। ये सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव की सरहज हैं। जिन्हें मतदाताओं ने दोबारा इन पर भरोसा जताया है। 

जिला पंचायत की कुरारा देहात सीट से निषाद पार्टी के प्रत्याशी वासुदेव निर्वाचित घोषित किये गये है। झलोखर सीट से बसपा प्रत्याशी अंजू पाल ने शानदार जीत दर्ज करायी है। सैदपुर सीट से भाजपा समर्थित जयंती राजपूत विजयी घोषित की गयी है वहीं मुस्करा सीट से सुनीता रानी निर्वाचित की गयी है। उन्हें 9518 मत मिले है। इधर जिला पंचायत की बिंवार सीट से अनुज कुमार विजयी घोषित किये गये है। इन्हें 2859 मिले है। 

रिहुंटा सीट पर दोबारा मतगणना शुरू, समर्थकों ने डेरा डाला  

सीट  पर कल रात में सपा समर्थित प्रत्याशी रामसजीवन यादव करीब 471 मतों से विजयी हुये थे। इन्हें 7458 मत मिले थे वहीं भाजपा प्रत्याशी प्रमोद सिंह तोमर 6987 मत पाकर दूसरे स्थान पर रहे। सपा प्रत्याशी को विजयी होने का देर रात तक प्रमाणपत्र नहीं दिया गया। सपा से पराजित भाजपा समर्थित प्रत्याशी ने अपने बड़े नेताओं को फोन पर मतगणना दोबारा शुरू कराये जाने की मांग की। प्रत्याशी ने इस मामले की शिकायत भी जिला निर्वाचन अधिकारी से की है। जिसके बाद मंगलवार को गोहांड ब्लाक में दोबारा मतगणना शुरू कराने का फैसला लिया गया है। मतगणना फिलहाल अभी जारी है। इसके परिणाम भी देर रात तक आने की उम्मीद है। 

सपा प्रत्याशी और उनके सैकड़ों समर्थकों ने मतगणना स्थल के बाहर डेरा भी डाल रखा है। भारी तादाद में पुलिस बल तैनात है। सपा प्रत्याशी रामसजीवन यादव ने बताया कि भाजपा प्रत्याशी प्रमोद सिंह तोमर उनसे पराजित हो चुके हैं। ये सांसद के रिश्तेदार हैं। इसीलिये विजयी होने के बाद उन्हें हराये जाने की साजिश की जा रही हे। दोबारा मतगणना करायी जा रही है।

Share this story