गोरखपुर महोत्सव : बर्ड वॉच में डॉक टिकट्स पर छपे पक्षियों के संसार का दिखेगा नजारा

newspoint24.com/newsdesk

गोरखपुर। गोरखपुर महोत्सव में 13 जनवरी को आयोजित होने वाले बर्ड वॉच, नेचर वॉक एवं वाइल्ड लाइफ फोटो प्रदर्शनी में देशी-विदेशी डॉक टिकटों पर पक्षियों की नायाब दुनिया का नजारा भी लेंगे। हर उम्र के लोगों के लिए कौतूहल पूर्ण यह कार्यक्रम उनका पक्षियों के बारे में उनकी जानकारी बढ़ाने वाला भी होगा।

डॉक टिकट संग्रह के लिए राज्य, राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित आजाद चौक रुस्तमपुर निवासी अश्वनी कुमार दुबे के पक्षियों पर डॉक टिकट संग्रह का प्रदर्शन होगा। उनके संग्रह में 1000 से ज्यादा पक्षियों पर विभिन्न देशों के जारी डाक टिकट शामिल होंगे।

अश्वनी कहते हैं कि ब्रिटिशकालीन भारत में पक्षियों पर एक भी डाक टिकट जारी नहीं हुआ था, लेकिन भारत में प्रथम कबूतर डाक 06 अप्रैल 1941 में प्रकाशित कर कबूतर के जरिए भेजा गया। इसे कल्याण से बाम्बे तक लेकर कबूतर ने 32 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर पहुंचाया था। अश्वनी के संग्रह में इस खास कबूतर डॉक को भी प्राणी उद्यान में लगने वाली प्रदर्शनी में प्रदर्शित किया जाएगा। 

उन्होंने बताया कि भारतीय डाक-टिकट्स पर सबसे पहले दिखाई देने वाला पक्षी संदेशवाहक कबूतर था। यह डाक-टिकट 01 अक्टूबर, 1954 को जारी हुआ था। जिसका 2 आना व 4 आना मूल्य का था। 

संग्रह में शामिल है टेलीग्राम

अश्वनी के संग्रह में 1966 के टेलीग्राम भी शामिल हैं। यह भारतीय डाक एवं टेलीग्राम विभाग का टेलीग्राम है। इस पर बधाई के साथ कबूरतों की कलात्मक तस्वीरें बनीं हैं।  

कहते हैं पक्षी प्रेमी

हेरिटेज फाउंडेशन की अनिता अग्रवाल एवं ऐश्वर्या शाही का कहना है कि शहरवासियों को इस अनकही कहानी को नजर भर देखना चाहिए। इन्हें सुनने के लिए 13 जनवरी की सुबह बर्ड वॉच, नेचर वॉक एवं वाइल्ड लाइफ फोटो प्रदर्शनी एवं पक्षियों के डॉक टिकट संग्रह के कार्यक्रम में जरूर शामिल होना चाहिए।

Share this story