पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से किसान सीधे तौर पर परेशान : बसपा

पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से किसान सीधे तौर पर परेशान : बसपा

Newspoint24 / newsdesk

लखनऊ । बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के प्रवक्ता डा.एमएच खान ने कहा कि महंगाई चरम सीमा पर है और किसानों की हालत दयनीय हो गयी हैं। गांवों में जो मामूली पैसा कमाने वाला व्यक्ति है, वो भी मोटरसाइकिल रखा हैं। डीजल को किसान सबसे ज्यादा इस्तेमाल करता है। किसान अपने ट्रैक्टर, बोरिंग हर स्थान पर डीजल उपयोग करता है। पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने से किसान सीधे तौर पर परेशान हैं।

उन्होंने हिन्दुस्थान समाचार से कहा कि महंगाई चरम सीमा पर है, किसानों की हालत दयनीय हो गयी है। बहुजन समाज पार्टी ने किसान आंदोलन का पूरी तरह से समर्थन किया है। बसपा अध्यक्ष मायावती ने किसानों के पक्ष में तीन कानूनों की मांग की हैं। किसानों की समस्या तो बहुत है। कई किसान मृत्यु को प्राप्त हो चुके हैं, लेकिन केन्द्र सरकार के कानों को कुछ सुनायी नहीं देता।

उन्होंने कहा कि किसान डटे हुए हैं और उनके पक्ष में रोजाना बोला जा रहा है। मुजफ्फरनगर में कितनी संख्या में किसान एकत्रित हुए और उन्हें भी सरकार के लोगों ने मव्वाली कह दिया। किसान अन्नदाता हैं, मव्वाली नहीं है। किसान अन्न पैदा करता है, तभी हम उसे खाते हैं। किसान हमारे लिए सर्वोपरी होना चाहिए।

उन्होंने बसपा सरकार में किसानों के लिए हुए कार्य पर कहा कि गन्ना किसान कहता है, मूल्य बढ़ा दिजिए और ये नहीं बढ़ाते हैं। बसपा की सरकार में तीन बार मूल्य वृद्धि हुई है। एक बार तो महेन्द्र टिकैत ने बसपा अध्यक्ष मायावती के मुख्यमंत्री रहते हुए उनसे मुलाकात कर 25 रुपये मूल्य वृद्धि की मांग की थी। बहन मायावती ने उनके आश्वास्त कर भेजा और दूसरे दिन ही मूल्य वृद्धि की थी।

उन्होंने कहा कि सिर्फ बसपा ही किसानों की सच्ची हितैषी है। बसपा अध्यक्ष मायावती ने जो कहा है, उसे किया है। बसपा किसानों के लिए जो कह रही हैं, उसे पूरा करेंगी।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story