इटावा: बीमार चौकीदार के इलाज के खर्च का जिम्मा जिला कप्तान ने लिया

इटावा: बीमार चौकीदार के इलाज के खर्च का जिम्मा जिला कप्तान ने लिया

Newspoint24 / newsdesk

इटावा । उत्तर प्रदेश के इटावा जनपद में सोशल मीडिया के जरिए एक गरीब चौकीदार की इलाज की गुहार पूरी हुई है। इटावा एसएसपी ने इलाज का जिम्मा उठाया है। थाना बकेवर क्षेत्र के कर्वाखेड़ा का रहने वाला बुजुर्ग चौकीदार काफी लंबे समय से बीमारी से ग्रस्त चल रहा था, जिसके पास ऑपरेशन के लिए रुपये न होने के चलते वह जूझ रहा था। उसकी कहीं कोई सुनने वाला नजर नहीं आ रहा था। सोशल मीडिया पर किसी के द्वारा चौकीदार वीरेन्द्र की बीमारी की समस्या वायरल हो गई जिसके इटावा एसएसपी ने मदद के लिए हाथ बढ़ाते हुए वीरेंद्र के इलाज का सारा खर्च स्वयं उठाने के लिए अश्वासन दे दिया और वीरेंद्र को आज अपने कार्यलय पर मिलने के लिए बुलाया।

चौकीदार वीरेंद्र बाबू हार्निया की बीमारी का आपरेशन कराने के लिए बेबस लाचार होकर इधर-उधर काफी समय से भटक रहा था। बीमारी से परेशान चौकीदार वीरेंद्र बाबू ने अपनी समस्या 09 सितम्बर को एक स्थानीय पत्रकार से साझा की और बताया था कि उसके पास इतना पैसा नहीं है कि वह हार्निया का आपरेशन करा सके। ऐसा भी नहीं है कि मुफ्त इलाज कराने की चलाई जा रही आयुष्मान योजना में उसका नाम न हो नाम तो है मगर तकनीकी खामी से योजना की सूची मे उसका नाम वीरेंद्र बाबू के स्थान पर वीरेंद्र बब्बू के नाम से दर्ज हो गया है जिसके चलते प्रधानमंत्री की योजना भी उसके काम नही आ रही है। जिसकी वजह से गोल्डन कार्ड स्कीम उसके लिए मात्र सफेद हाथी साबित हो रही। लाचार चौकीदार ने दानवीरों से अपने इलाज के लिए आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने की गुहार लगाई थी जिससे कि वह इस गम्भीर समस्या से निजात पा सके।

वीरेंद्र बाबू की फोटो सहित सोशल मीडिया पर उनकी बीमारी की समस्या और दानवीरों से मदद के लिये वाॅयरल हो गई लेकिन जनपद के बड़े-बड़े सेठ, नेता, समाजसेवी, सत्ता पक्ष, विपक्षी नेताओं तक वीरेंद्र की गुहार पहुंची तो लेकिन किसी के कान पर इस बात की जूं तक नहीं रेंगी। इस मामले की भनक जैसे ही इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार सिंह के पास पहुंची।

उन्होंने अपने पुलिस कर्मियों को चौकीदार वीरेंद्र के बारे में जानकारी हासिल करने के और उनसे सम्पर्क करके आज 11 सितम्बर को अपने कार्यालय पर मिलने लिए कहा और वीरेंद्र को यह आश्वासन दिया कि उनके इलाज का सारा खर्च खुद एसएसपी स्वयं उठाएंगे। इस बात की जानकारी जैसे ही लोगों को मिली सभी लोग इटावा एसएसपी की इस नेक कार्य की सराहना करते नजर आए।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story