इटावा: ट्रेन के इंजन में फंसकर राष्ट्रीय पक्षी मोर की मौत, तिरंगे में लपेटकर दी गई विदाई

newspoint24.com / newsdesk Etawah: National bird peacock dies after getting stuck in train engine, farewell wrapped in tricolor

Newspoint24.com / newsdesk 

इटावा। उप्र के इटावा में लखनऊ से दिल्ली जा रही शताब्दी एक्सप्रेस (12003) ट्रेन में इंजन में राष्ट्रीय पक्षी मोर की फंसने से मौत हो गयी। सूचना मिलने पर जीआरपी ने रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर पहुंचकर ट्रेन के इंजन में फंसे मोर के शव को निकालकर तिरंगे में लपेटकर सुरक्षित रखवाया, जिसका आज राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक, लखनऊ से दिल्ली जा रही शताब्दी एक्सप्रेस के इंजन में शुक्रवार देर शाम मोर के फंसने की सूचना पर जीआरपी और रेलवे के अधिकारी रेलवे स्टेशन पहुंचे। उन्होंने इंजन में फंसे मोर के शव को निकलवाया और तिरंगे में लपेट कर राजकीय सम्मान के साथ सुरक्षित रखवाया। इस दौरान ट्रैन को स्टेशन पर नौ मिनट तक रुकना पड़ा मोर के शव को निकालने के बाद ट्रेन को गन्तव्य के लिए रवाना किया गया।

जीआरपी सब इंसपेक्टर सुभाष ने बताया कि स्टेशन मास्टर के जरिये सूचना दी गयी थी कि शताब्दी एक्सप्रेस के इंजन में राष्ट्रीय पक्षी मोर फंस गया है। सूचना मिलने पर हम लोग अपने सुरक्षा बल के साथ प्लेटफार्म नम्बर एक पर आए और ट्रेन के आने पर इंजन के आगे फंसे जाल में मोर के शव को बाहर निकाला गया है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय पक्षी मोर के शव को राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे में लपेटकर सुरक्षित रखवा दिया गया है। आज वन विभाग के द्वारा राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार करवाया गया। 

जिला वन अधिकारी संजय सिंह ने शनिवार को बताया कि ट्रेन में फंसने से राष्ट्रीय पक्षी मोर की मृत्यु हो गई थी। राजकीय रेलवे पुलिस के द्वारा मोर के शव को तिरंगे में लपेटकर वन विभाग के सुपुर्द किया गया है। मोर के शव का अंतिम संस्कार पूरे सम्मान के साथ किया गया। 

Share this story