मध्य रेल ने स्वच्छता रथ चलाकर हटाया कचरा

मध्य रेल ने स्वच्छता रथ चलाकर हटाया कचरा

Newspoint24 / newsdesk

मुंबई । रेलवे की ओर से स्टेशनों के साथ ही रेलवे पटरियों पर भी स्वच्छ वातावरण बनाए रखने के लिए लगातार विभिन्न उपाय किए हैं। ट्रैक को साफ रखने के लिए मध्य रेल मेन लाइन पर सीएसएमटी से कल्याण और हार्बर लाइन पर सीएसएमटी से मानखुर्द के बीच पटरियों पर से कचरा इकट्ठा करने और साफ करने के लिए स्वच्छता रथ चलाता है। वर्ष 2020-21 के दौरान उपनगरीय खंड में पटरियों से 1.7 लाख क्यूबिक मीटर (मक) कचरा हटाया गया है।

मध्य रेल मुंबई के जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, पटरियों के किनारे मलबा और कचरा फेंका जाता है, जो पटरियों को खराब कर देता है। साथ ही यहां से गुजरने वाले नालों को भी रोक देता है, जिससे मानसून के दौरान पटरियों पर जल-जमाव हो जाता है। ये रथ केवल आधी रात के दौरान ही संचालित होते हैं। साफ किए गए कूड़े और कचरे को बोरियों में पैक किया जाता है, जिसे बाद रथ स्पेशल ट्रेन में लाद दिया जाता है। मध्य रेल के उपनगरीय खंड में 07 स्वच्छ रथ कार्यरत हैं। इसके अलावा डीबीकेएम पर लगे पोक्लेन मशीन का भी उपयोग किया जाता है, जरूरत पड़ने पर जेसीबी मशीनों की मदद से गंदगी को हटाया जाता है।

पारसिक टनल के दोनों ओर सीएसएमटी-कल्याण के बीच स्थित झोपड़ियां, स्लो लोकल लाइन साइड पर डोंबिवली स्टेशन, सीएसएमटी, विक्रोली, माटुंगा-सायन, धोबी घाट, धारावी, सीएसएमटी- मस्जिद - सैंडहर्स्ट रोड, सीएसएमटी से मानखुर्द के बीच हार्बर लाइन पर वडाला और किंग्स सर्कल, रावली जंक्शन, माहिम, चेंबूर और मानखुर्द, गुरु तेग बहादुर नगर और रावली खंड के बीच मुख्य रूप से स्वच्छता रथ का उपयोग किया जाता है। रेलवे ने नागरिकों से पटरियों पर कचरा नहीं फेंकने की अपील की है।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story