अभियान : 15 से उर्वरक बिक्री केन्द्रों का होगा भौतिक सत्यापन, गड़बड़ी पर होगी सख्त कार्रवाई

पिछले दिन की तरह आज भी मेरी बहन मेरे बगल में सोई हुई थी. आज उसने लोअर पहना हुआ था.  जब सब सो गए, उसके बाद मैंने उसे हिलाया, वो सो चुकी थी. उसका मुँह मेरी तरफ था तो मैं उससे चिपक गया और एक हाथ उसकी गांड पर रख कर दबाने लगा.  मेरा लंड खड़ा होने लगा था.  मैं दूसरे हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा. वो कोई प्रतिक्रिया नहीं कर रही थी तो मैं उसके लोअर को नीचे करने लगा.  उसने आज पैंटी नहीं पहनी थी, मेरा लंड फुंफकार मार रहा था. मैंने अपने लंड को बाहर किया और उसकी चुत पर रख कर हल्के हल्के से धक्का मारने लगा.  उसकी चूत काफी टाइट थी, साफ़ समझ आ रहा था कि मेरी बहन पहले कभी नहीं चुदी थी.  फिर मैंने उसके एक पैर को अपने पैरों पर ले लिया.  इससे उसकी चुत का मुँह खुल गया. मैंने थोड़ा सा जोर लगाया तो मेरे लंड का टोपा उसकी चूत में घुस गया.  इतने में मेरी बहन हड़बड़ा गई, उसे शायद दर्द हो रहा था. मगर वो बिना कुछ बोले चुप पड़ी रही.  उसकी हरकत देख कर पहले तो मैं डर गया, पर जब वो कुछ न बोली और लेटी रही तो मैं समझ गया कि उसे भी चुदाई में मजा आ रहा है.  अब मैंने उसे अपनी तरफ खींच कर एक जोर से धक्का लगाया और अपना पूरा लंड उसकी चूत में पेल दिया. वो दबी सी आवाज में आह करती हुई मादक सिसकारियां ले रही थी और कराह भी रही थी.  पर मैं बिना रुके उसे चोदता रहा.  कुछ देर बाद मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसे पूरी ताकत से चोदने लगा. वो भी अपनी गांड उठा कर मस्ती से लंड ले रही थी.  कुछ मिनट बाद मैं झड़ने वाला हो गया था, तो मैंने उसकी चुत से अपना लंड बाहर निकाला और बगल में गिर कर लंड हिलाते हुए सारा माल बाहर गिरा दिया.  मैं झड़ने के बाद निढाल हो गया और वैसे ही सो गया.  जब सुबह नींद खुली तो 9 बज चुके थे.  मैंने उधर के हालात का जायजा लिया तो सब कुछ नार्मल था.  मैं बाथरूम गया और नहा कर बाहर आ गया. बाहर नाश्ता किया और बैठक में बैठ गया. अब तक सारे अतिथि जा चुके थे.  शाम में मेरी बहन बोली- चलो भैया, कहीं घूमने चलते हैं.  मैंने मामा की बाइक ले ली और हम दोनों बाजार घूमने चले गए. रास्ता बहुत ख़राब था, जिसकी वजह से मेरी बहन की चूचियां मुझे मेरी पीठ पर रगड़ती हुई महसूस हो रही थीं.  तभी वो बोली- भैया, रात में मजा आया? पहले तो मैं डर गया … फिर याद आया कि इसने किसी से कुछ नहीं कहा है इसका मतलब है कि इसको भी चुदने में मजा आया है.  मैंने बनकर पूछा- किस चीज का मजा? वो बोली- जो रात को आप मेरे साथ कर रहे थे.

Newspoint24 / newsdesk

लखनऊ । किसानों को उर्वरक की कोई कमी न हो। इसमें माफिया कुछ गड़बड़ न कर पायें। इसके लिए प्रदेश सरकार हर वक्त कई कदम उठा रही है। प्रदेश के सभी उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर आईएफएमएस पोर्टल में प्रदर्शित उर्वरकों का स्टाक एवं बफर गोदाम व बिक्री केन्द्रों पर उपलब्ध भौतिक स्टाक का शत-प्रतिशत सत्यापन होगा। यदि पोर्टल पर दर्शाए गये उर्वरक की मात्रा वहां नहीं मिली तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस बार पूरे प्रदेश में 15 से 25 सितम्बर तक अभियान चलाकर बफर गोदाम व बिक्री केन्द्रों का सत्यापन कराया जाएगा।

इस संबंध में शासन ने सभी मंडलायुक्तों, कृषि निदेशक व सभी जिलाधिकारियों को आदेश भेज दिया है। कृषि अनुभाग दो से भेजे गये पत्र में कहा गया है कि उर्वरक विक्रेताओं द्वारा पीओएस मशीन के माध्यम से की गयी उर्वरकों की बिक्री को सत्यापित करने के लिए सतत अनुश्रवण एवं प्रवर्तन आवश्यक है। इस प्रक्रिया का विचलन कर बिक्री करने वाले विक्रेताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

पत्र के माध्यम से यह भी अवगत करायो गया है कि 15 सितम्बर से 25 सितम्बर तक सभी बफर गोदामों, थोक विक्रेताओं के गोदामों एवं फुटकर उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर उपलब्ध भौतिक स्टाक का सत्यापन कर कार्रवाई सुनिश्चित किया जाय। इसका सत्यापन के बाद शासन ने पूरी रिपोर्ट भी मांगी गयी है।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story