दिल्ली से वाराणसी के बीच चलेगी बुलेट ट्रेन कुल 13 स्टेशन बनेंगे

Newspoint24.com/newsdesk

वाराणसी । देश में चलने वाले बुलेट ट्रेन का खाका तैयार किया जा रहा है। इसके तहत दिल्ली से वाराणसी के बीच चलने वाली बुलेट ट्रेन के कुल 13 स्टेशन बनेंगे। इसका आखिरी स्टेशन मंडुआडीह में बनेगा। यह स्टेशन पूरी तरह वातानुकूलित होगा। यहां की सुविधाएं विश्व स्तरीय होंगी। बनारस में दो तहसीलों राजातालाब और सदर के 30 गांव से जाएगा।

दिल्ली से बनारस चलने वाली बुलेट ट्रेन के लिए हाई स्पीड कॉरिडोर बनाया जाएगा। यह 9 से 10 मीटर ऊंचा ऊपरगामी होगा। यह हाई स्पीड कॉरिडोर उत्तर प्रदेश के 22 जिलों और दिल्ली के दो जिलों से होकर गुजरेगा।

नई दिल्ली, नोएडा, मथुरा, आगरा, इटावा, साउथ कन्नौज, लखनऊ, अयोध्या, रायबरेली, प्रयागराज, भदोही, मंडुआडीह वाराणसी। 
 22 किमी का कॉरिडोर बनारस में बनेगा
दिल्ली से वाराणसी चलने वाले बुलेट ट्रेन में विश्व स्तरीय सुविधाएं होंगी। पूर्वोत्तर रेलवे के ज्ञानपुर ट्रैक के किनारे से हाई स्पीड कॉरिडोर प्रस्तावित हुआ है।  दिल्ली से वाराणसी तक की दूरी 810 किमी होगी। बनारस में 22 किमी का कॉरिडोर बनेगा। 
 आंकलन के अनुसार, बनारस के 22 गांवों में एक सौ हेक्टेयर जमीन के अधिग्रहण की जरूरत होगी।  इसके लिए प्रत्येक गांव में समितियां बनाई जाएंगी।  किसानों की सहमति से भूमि खरीदी जाएगी।  प्रत्येक गांव में भूमि अधिग्रहण के लिए समिति बनाई जाएगी।  समाचार पत्रों  में अधिग्रहण की सूचना दी जाएगी।
इस संबंध में प्रभावितों को दो से चार गुना तक मुआवजा दिया जाएगा  ग्रामीण क्षेत्र में सर्किल रेट से चार गुना तथा शहरी क्षेत्र में दो-गुना मुआवजा दिया जाएगा। इस परियोजना में कुल 794 गांव प्रभावित हो रहे हैं। 

Share this story