बांदा : बाघिन पी-213 (32) ने चार शावकों को दिया जन्म

पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंधन का दावा बाघों की संख्या बढ़कर 65 से अधिक हुई   

Newspoint24.com/newsdesk/

बांदा। देश के टाइगर स्टेट मध्यप्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व से नए साल पर बड़ी खुशखबरी आई है। यहां पार्क में बाघों के कुनबे की सदस्य संख्या में उल्लेखनीय इजाफा हुआ। पन्ना टाइगर रिजर्व की युवा बाघिन पी-213 (32) ने चार शावकों को जन्म दिया है। नन्हें मेहमानों के आने से पार्क प्रबंधन में खुशी की लहर दौड़ गई है। 

पन्ना टाइगर रिजर्व में जन्मी और पली-बढ़ी बाघिन पी-213 (32) ने पार्क की गहरीघाट रेन्ज में दूसरी बार शावकों को जन्म दिया है। इसके शावक अब 2 से 3 माह के हो चुके हैं। कैमरा ट्रेप से प्राप्त फोटोग्राफ में युवा बाघिन अपने नवजात शावकों को मुंह में दबाकर एक स्थान से किसी दूसरे सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करते हुए कैद हुई है।

पन्ना टाइगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक उत्तम कुमार शर्मा ने शावकों के जन्म पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बताया कि बाघिन पी-213 (32) और उसके शावकों की नियमित रूप से निगरानी की जा रही है। हाल ही में मॉनिटरिंग दल के सदस्यों ने चारों शावकों तथा बाघिन को प्रत्यक्ष तौर देखा है। आपने बताया सबसे अच्छी बात यह है कि बाघिन और चारों शावक स्वस्थ हैं। नन्हें शावक अब अपनी मां के साथ विचरण भी करने लगे हैं। 

यह महज सुखद संयोग ही है कि युवा बाघिन पी-213 (32) करीब दो साल पूर्व वर्ष 2019 की शुरुआत में जब पहली बार माँ बनी थी तब भी इसने चार शावकों को जन्म दिया था। इस बाघिन की आयु अभी पांच वर्ष से भी कम है। अपने दूसरे लिटर में पुनः चार शावकों को जन्म देने के बाद बाघिन पी-213 (32) को लेकर यह उम्मीद की जा रही है कि यह बाघिन पन्ना में बाघों की संख्या को बढ़ाने में आगे भी इसी तरह अपना अहम योगदान देते हुए कीर्तिमान स्थापित करेगी। 

बहरहाल, चार शावकों के जन्म के बाद पन्ना में बाघ परिवार की कुल सदस्य संख्या बढ़कर 65 से अधिक हो चुकी है। इनमें व्यस्क, अर्ध व्यस्क और शावक शामिल हैं। पन्ना टाइगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक उत्तम कुमार शर्मा ने बताया कि वर्तमान फेज-4 की गणना जारी है, लगभग 2-3 माह में इसके नतीजे आने पर पन्ना में बाघों की वास्तविक संख्या पता चल जाएगी।

Share this story