आज़मगढ़ महिला ने थाने के बाहर दी जान,थाना प्रभारी सस्पेंडेड 

आज़मगढ़ महिला ने थाने के बाहर दी जान,थाना प्रभारी सस्पेंडेड

Newspoint24 /newsdesk /एजेंसी इनपुट के साथ

आज़मगढ़।  उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ जिले की मेहनाजपुर थाने की पुलिस के व्यवहार से क्षुब्ध एक महिला ने थाने के बाहर ही विषाक्त पदार्थ खाकर अपनी जान दे दी ।

मामला संज्ञान में आते ही आजमगढ़ के एसपी सुधीर कुमार सिंह ने थाना प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है वहीं पुलिस जो कल तक मुकदमा दर्ज नहीं कर रही थी आज आनन-फानन में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया ।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि मेहनाजपुर थाने क्षेत्र में मारपीट व दुष्कर्म के मामले में पुलिस द्वारा रिपोर्ट दर्ज न करने से क्षुब्ध अधेड़ महिला ने शनिवार की सुबह मेहनाजपुर थाने के बाहर विषाक्त पदार्थ निगल लिया। जानकारी होने पर पुलिस की मदद से अचेत महिला को स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया।

चिकित्सक द्वारा रेफर कर दिए जाने पर उसे जिला अस्पताल लाया जा रहा था कि रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। मामला संज्ञान में आते ही पुलिस अधीक्षक ने घटना के लिए जिम्मेदार माने गए थाना प्रभारी चुन्ना सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

पुलिस के अनुसार क्षेत्र के डगरहां गनीपुर ग्राम निवासी चित्रा देवी (55) ने छह अक्टूबर को गांव के ही एक व्यक्ति समेत दो लोगों के खिलाफ घर के बाहर बुला कर मारपीट करने तथा जबरन दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए थाने में तहरीर दी थी।

घटना की जांच करने पुलिस गांव में भी गई थी लेकिन इस मामले में रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। इस मामले में थाने का चक्कर काट रही पीड़ित महिला शनिवार की सुबह थाने पर पहुंची और परिसर के बाहर उसने विषाक्त पदार्थ निगल लिया। विष प्रभाव के चलते महिला थाना गेट पर ही अचेत होकर गिर पड़ी। यह देखते ही मौके पर हलचल मच गई।

आनन-फानन उसे उपचार के लिए स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। हालत गंभीर देख चिकित्सक द्वारा रेफर कर दिए जाने पर अचेत महिला को जिला अस्पताल ले जाया जा रहा था कि रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।

पुलिस ने पीड़िता द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर आरोपियों के विरुद्ध धारा 323 व 376 का अभियोग पंजीकृत कर लिया। पुलिस ने इस मामले में दर्ज अभियोग में धारा 306 की बढ़ोतरी कर दी है। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें गठित कर दी गई हैं।

Share this story