जिले के सभी पार्क और उद्यान 31 दिसंबर से दो फरवरी तक रहेंगे बंद

भागलपुर। कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को लेकर जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने जिले के सभी पार्क व उद्यान को 31 दिसंबर से 2 जनवरी तक बंद रखने का निर्देश दिया है।  जिलाधिकारी ने कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के संक्रमण के प्रसार की रोकथाम और नववर्ष की पूर्व संध्या पर प्रथम दिवस को होने वाले आयोजन को सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ के एकत्रित होने की संभावना के मद्देनजर निर्देश का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। उल्लेखनीय है कि राज्य में कोरोना महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए गृह विभाग के माध्यम से निर्गत दिशा निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी डीडीसी, एडीएम, लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, जेएलएनएमसीएच के प्राचार्य एवम अधीक्षक, सिविल सर्जन, डीआरडीए डायरेक्टर, डीटीओ, सभी एसडीओ, नगर आयुक्त, नगर निकायों के कार्यपालक पदाधिकारी, सभी सीओ व थानाध्यक्षों को सौंपी गई है।  इसके अतिरिक्त सभी प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेलकूद, शैक्षणिक, सांस्कृतिक व धार्मिक आयोजनों में उपस्थित लोगों को मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग आदि को भी प्रोटोकॉल का अनिवार्य रूप से अनुपालन सुनिश्चित कराने का दायित्व आयोजन के प्रबंधन का होगा।

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

भागलपुर। कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को लेकर जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने जिले के सभी पार्क व उद्यान को 31 दिसंबर से 2 जनवरी तक बंद रखने का निर्देश दिया है।

जिलाधिकारी ने कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के संक्रमण के प्रसार की रोकथाम और नववर्ष की पूर्व संध्या पर प्रथम दिवस को होने वाले आयोजन को सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ के एकत्रित होने की संभावना के मद्देनजर निर्देश का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

उल्लेखनीय है कि राज्य में कोरोना महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए गृह विभाग के माध्यम से निर्गत दिशा निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी डीडीसी, एडीएम, लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, जेएलएनएमसीएच के प्राचार्य एवम अधीक्षक, सिविल सर्जन, डीआरडीए डायरेक्टर, डीटीओ, सभी एसडीओ, नगर आयुक्त, नगर निकायों के कार्यपालक पदाधिकारी, सभी सीओ व थानाध्यक्षों को सौंपी गई है।

इसके अतिरिक्त सभी प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेलकूद, शैक्षणिक, सांस्कृतिक व धार्मिक आयोजनों में उपस्थित लोगों को मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग आदि को भी प्रोटोकॉल का अनिवार्य रूप से अनुपालन सुनिश्चित कराने का दायित्व आयोजन के प्रबंधन का होगा।

Share this story