राम नगरी में 18 से शुरू होगा संघ का अखिल भारतीय शारीरिक वर्ग अयोध्या में  संघ प्रमुख भी होंगे शामिल

राम नगरी में 18 से शुरू होगा संघ का अखिल भारतीय शारीरिक वर्ग अयोध्या में  संघ प्रमुख भी होंगे शामिल

Newspoint24 / newsdesk / एजेंसी इनपुट के साथ 

तीन दिवसीय प्रवास पर 17 को अयोध्या पहुंचेंगे सरसंघचालक डॉ भागवत
देशभर के शारीरिक से जुड़े 500 विषय विशेषज्ञ होंगे शामिल

अयोध्या। श्रीराम नगरी अयोध्या में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) के स्वयंसेवकों की शारीरिक दक्षता बढ़ाने के लिए पांच दिवसीय अखिल भारतीय शारीरिक वर्ग का आयोजन होगा। यह वर्ग 18 से लेकर 23 अक्टूबर तक चलेगा। जिसमें देशभर के करीब 500 शारीरिक विशेषज्ञ जुटेंगे।

इस वर्ग में आरएसएस के सरसंघचालक डा. मोहन मधुकर भागवत भी हिस्सा लेंगे। वह तीन दिवसीय प्रवास पर 17 अक्टूबर को अयोध्या पहुंचेंगे और 18 अक्टूबर को कारसेवकपुरम में संघ के अखिल भारतीय शारीरिक वर्ग के उद्घाटन सत्र में शामिल होंगे।

गौरतलब है कि सरसंघचालक शारीरिक के अच्छे जानकार हैं, इस दृष्टि से उनकी उपस्थिति काफी अहम मानी जा रही है। यह सामान्य वर्ग नहीं है। इसका आयोजन पांच वर्ष में एक बार ही होता है। जिसमें संघ के शारीरिक विभाग से जुड़े दायित्वधारी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जाता है। इस वर्ग में शारीरिक विभाग की आगामी 5 वर्षों की योजना भी बनायी जाती है। यहां से लौटकर जाने वाले कार्यकर्ता अपने-अपने विषय के विशेषज्ञ बनकर क्षेत्र में लौटते हैं और शेष स्वयंसेवकों को अपने जैसा दक्ष बनाते हैं।

संघ सूत्रों ने बताया कि इस वर्ग में सरसंघचालक डॉ. मोहन मधुकर भागवत के अलावा सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले, सह सरकार्यवाह रामदत्त चक्रधर, अखिल भारतीय शारीरिक प्रमुख सुनील कुलकर्णी, अखिल भारतीय सह शारीरिक प्रमुख जगदीश प्रसाद भी रहेंगे। इस वर्ग में संघ दृष्टि से देश के 45 प्रांतों से शारीरिक दायित्व पर कार्यरत 500 कार्यकर्ताओं को बुलाया गया है। इस वर्ग में प्रत्येक प्रांत से 10 कार्यकर्ता अपेक्षित हैं।

शारीरिक निपुणता में दक्ष 10 विषयों के विशेषज्ञ होंगे शामिल

कारसेवक पुरम में लगने वाले संघ के अखिल भारतीय शारीरिक वर्ग में 10 विषयों के विषय विशेषज्ञ शामिल होंगे। इनमें दंड, दंड युद्ध, नि:युद्ध, यस्टी, आसन, योगासन, खेल, पद विन्यास, समता और सामूहिक समता में निपुण कार्यकर्ता शामिल होंगे। संघ की लगने वाली नित्य की शाखा और संघ के प्रशिक्षण वर्गों में इन्हीं 10 विषयों की शिक्षा स्वयंसेवकों को दी जाती है। यस्टी को अभी हाल ही में शामिल किया गया है।

नौ घंटे की शारीरिक दक्षता और वाद्य बजाने में निपुण ही होंगे शामिल

अखिल भारतीय शारीरिक वर्ग की पांच दिन की दिनचर्या काफी कठोर है। वर्ग में 24 गण और आठ वाहिनी रहेगी। वर्ग में शामिल सभी कार्यकर्ताओं के लिए प्रतिदिन 09 घंटे शारीरिक करना अनिवार्य रहेगा। इसके अलावा दोपहर में एक चर्चा सत्र और रात्रि में भोजन के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम का सत्र रहेगा। इसके साथ ही इस वर्ग में यह तय किया गया है कि जो कार्यकर्ता इस वर्ग में आ रहे हैं उन्हें बंशी, मुरली या बिगुल में से कोई न कोई एक वाद्य यंत्र बजाने आता हो। अवध प्रांत के सह प्रांत प्रचारक मनोज जी अयोध्या में रहकर व्यवस्था संबंधी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं।
 

Share this story