वाराणसी के सभी सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र 15 मई तक 24 घंटे कार्य करेंगे ,कर्मचारियों की छुट्टियां निरस्त

All community and primary health centers of Varanasi will function 24 hours till 15 May

Newspoint24 / newsdesk 


कोरोना पर नियंत्रण के लिए बैठक, स्वास्थ्य कर्मचारियों की छुट्टियां निरस्त

वाराणसी । वाराणसी में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग लगातार प्रयास कर रहा है। मंगलवार ​को सर्किट हाउस में ​एमएलसी ए.के.शर्मा ने अफसरों के साथ बैठक कर इस पर मंथन किया। 

 बैठक में एमएलसी ए.के.शर्मा ने जिले की सभी सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को 15 मई तक 24 घंटे पूरी क्षमता से चलाये जाने का निर्देश दिया। उन्होंने सभी कर्मचारियों की छुट्टियां निरस्त करते हुए शिफ्ट में ड्यूटी करने की कड़ी हिदायत दी।

 उन्होंने कहा कि अगर अगले 10 दिनों तक जिले के सभी सरकारी और निजी अस्पतालों के साथ साथ पीएचसी, सीएचसी इस प्रकार कार्य करेंगे तो कोरोना पर ब्रेक लगाने में हम सक्षम होंगे। इससे मरीजों की संख्या कम से कम कर सकेंगे। ए.के.शर्मा ने सभी डाक्टरों से कहा कि आप मरीजों का इलाज मेहनत से कर रहे हैं आप पर दबाव है। फिर भी थोड़ा संयम और शालीनता बरतें और अब अच्छा और बेहतर करने की जरूरत है। 

 उन्होंने संक्रमित मरीजों के परिजनों को उसके स्वास्थ्य की जानकारी देने की व्यवस्था बनाने की बात भी कही। बैठक में होमी भाभा कैंसर अस्पताल के डाक्टरों के 24 घंटे लैब टेस्टिग चालू रखने के सुझाव पर अमल करने का निर्णय लिया गया। चिकित्सकों ने कहा कि कोरोना की रफ्तार पर जल्द से जल्द और सफलता के साथ ब्रेक लगाने के लिए मरीजों के इलाज में किसी भी स्तर पर बिना समय गंवाए उसका उपचार शुरू हो जाना चाहिए। 

सक्षम निजी अस्पतालों को लिक्विड आक्सीजन प्लांट लगाने पर सहयोग मिलेगा 

बैठक में मण्डलायुक्त दीपक अग्रवाल ने कहा कि ऐसे निजी अस्पताल जो आर्थिक रूप से सक्षम हों वे लिक्विड आक्सीजन प्लांट अपने अस्पताल में स्थापित कराना चाहें तो प्रशासन के सहयोग से लगवा सकते हैं। प्लांट भविष्य में अस्पताल के लिए वरदान साबित होगा।

 उन्होंने सभी अस्पतालों को रिसेप्शन काउंटर पर अस्पताल का स्टेटस, खाली बेडों की संख्या,आक्सीजन की उपलब्धता, आईसीयू बेड, भर्ती मरीजों की संख्या, डिस्चार्ज मरीजों की संख्या आदि का विवरण डिस्प्ले बोर्ड पर प्रतिदिन अपडेट करने को कहा। 

 उन्होंने कहा कि इलाज के लिये लगातार सुविधाएं बढ़ाने के साथ-साथ अब इलाज को क्वालिटेटिव, एडमिनिस्ट्रेटिव और मेडिकली मजबूत करने पर बल दिया जाये। हम अपने बेस्ट इफर्ट से जितने ज्यादा से ज्यादा लोगों को बचा पायेंगे हमारा लोगों में विश्वास कायम होगा और आत्म बल भी बढ़ेगा कि जिस विश्वास के साथ लोग हमारे पास आये हम उनकी मदद कर सके।

अस्पतालों के ओवर बिलिंग पर भी चर्चा

बैठक में निजी अस्पतालों में ओवर बिलिंग को लेकर भी खानापूर्ति जैसी चर्चा हुई। कमिश्नर ने कहा कि कुछ अस्पतालों में इलाज से सम्बंधित बिलों को अधिक बढ़ा कर वसूलने की जानकारी मिल रही है। अस्पताल प्रबंधन वास्तविक खर्चों के बिल वसूलने के साथ मरीजों से सह्रदयता दिखायें, अवसर का लाभ उठाने की कोशिश न करें। कुछ लोगों के कारण चिकित्सा जगत बदनाम होता है। 

 बैठक में पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने वैक्सिनेशन केंन्द्रों पर भीड़ को लेकर चर्चा की। उन्होंने बिना पंजीकरण के ही वैक्सीन लगाने के लिए पहुंचने वालों को नियंत्रित करने पर जोर देकर ऐसे केन्द्रों की सूची उपलब्ध कराने को कहा। 

 बैठक में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने शहरी और ग्रामीण सभी क्षेत्रों में कोरोना लक्षण वाले मरीजों को कोरोना मेडिसिन किट घर पर उपलब्ध कराने में लगी टीमों की जानकारी दी। साथ ही अस्पतालों में आक्सीजन कंसेन्ट्रेटर उपलब्ध कराने, आक्सीजन सिलिंडर के अलावा अन्य आवश्यक जानकारी दी गई। 

 डिप्टी सीएमओ डा संजय राय तथा एसीएमओ डा. एन पी सिंह ने कहा कि सभी हेल्थ सेंटर पर एम्बुलेंस दी गयी है। पल्स आक्सीमीटर भी है, आक्सीमीटर दिया भी जा रहा है।  जिससे आशा एएनएम घर पर ही आक्सीजन लेवल, पल्स रेट की जांच कर लें और मरीजों को ग्रामीण क्षेत्रों से समय रहते अस्पताल में भर्ती हेतु लाया जा सके।

बैठक में नगर आयुक्त गौरांग राठी, सीएमओ, सभी सरकारी अस्पतालों के डाक्टर तथा निजी अस्पताल के संचालक उपस्थित रहे।  

डिस्प्ले लगाने का निर्देश

एमएलसी एके शर्मा ने सभी अस्पतालों के रिसेप्शन काउंटर पर मेडिकल सुविधाएं हासिल करने से सम्बंधित फोन नंबर जिसमें, आक्सीजन, रेमडिसिविर, शव वाहिनी, कंट्रोल रूम, एम्बुलेंस सुविधा आदि आवश्यक रूप से डिस्प्ले करने का निर्देश दिया।

Share this story