शिमला में बर्फबारी से निपटने की प्रशासन की तैयारियां, पांच सेक्टरों में बांटा शहर

Administration's preparations to deal with snowfall in Shimla, city divided into five sectors

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

शिमला। जिला प्रशासन ने शिमला शहर में बर्फबारी से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। उपायुक्त आदित्य नेगी ने बर्फबारी के दौरान विभिन्न विभागों की तैयारियों को लेकर गुरुवार को समीक्षा बैठक करते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपने अधीन इस संदर्भ में नोडल अधिकारियों की तैनाती कर 30 नवम्बर तक जिला प्रशासन को सूचित करें, ताकि प्रभावी क्रियान्वयन के लिए कम्युनिकेशन प्लान बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि बर्फबारी के चलते शिमला को 5 सेक्टरों में बांटा गया है, जिसमें

सेक्टर-1 के तहत संजौली, ढली, कुफरी, नालदेहरा, मशोबरा, बल्देयां,

सेक्टर-2 के तहत ढली-संजौली बाईपास, संजौली चौक-आईजीएमसी-रिगल, लक्कड़ बाजार से विक्ट्री टनल तक, कैथू, भराड़ी, चौड़ा मैदान, एजी ऑफिस, अनाडेल, उपायुक्त कार्यालय,

सेक्टर-3 के तहत बाईपास एनएच सड़क वाया आईएसबीटी से शोघी तक, चक्कर, बालुगंज, हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, टूटु, जतोग, नाभा, फागली, खलीणी, बीसीएस, विकास नगर,

सेक्टर-4 के तहत विक्ट्री टनल से कार्ट रोड छोटा शिमला चौक तक, आर्टरेक, यूएस क्लब, माॅल, रिज, जोधा निवास, हाॅली लोज, जाखू, रिज माउंट, राम चन्द्रा चौक तथा

सेक्टर-5 के तहत हाईकोर्ट, केएनएच, ओकओवर, राज भवन, बैनमोर, वन रोड, हिमाचल प्रदेश सचिवालय छोटा शिमला, ब्राॅक-ह्रस्ट, मैहली, कसुम्पटी तथा पंथाघाटी शामिल है।

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र : ईगल इंफ्रा कंपनी के डामर टैंक में विस्फोट से लगी आग, 2 मजदूरों की मौत, 3 घायल

खुले स्थान पर एकत्र होगी बर्फ 

उन्होंने लोक निर्माण विभाग को बर्फबारी के दौरान सड़कों को बहाल करने के लिए मशीन व श्रम की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। विशेष रूप से ठियोग, चोपाल, रोहडू, कुमारसैन, रामपुर, शिमला शहरी व शिमला ग्रामीण की बहाली प्राथमिकता के आधार पर की जानी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इन सड़कों पर बंद होने वाले स्थानों को चिन्हित कर वहां आवश्यक तैनाती सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन सड़कों पर से बर्फ को उठा कर किसी खुले स्थान पर एकत्रित करे, ताकि किसी प्रकार के जाम की समस्या से बचा जा सके। सड़कों पर वाहनों की सही पार्किंग सुनिश्चित करने के लिए भी स्थानीय प्रशासन आवश्यक कार्य योजना तैयार करें।

उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग बर्फबारी के दौरान जिला में विद्युत आपूर्ति सुचारू रखने के लिए सभी तैयारियां पूर्ण करें। विभिन्न विद्युत लाइनों के आसपास गिरने वाले पेड़ों को चिन्हित कर बर्फबारी से पूर्व हटाने की प्रक्रिया आरम्भ की जानी आवश्यक है। इसके अतिरिक्त अन्य ट्रांसफार्मर की उपलब्धता एवं उपकरणों के रखरखाव को भी समय रहते सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में आवश्यक सर्वेक्षण करवाना भी आवश्यक है, जिसे जल्द पूर्ण किया जाए।

उन्होंने जल शक्ति विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि विभाग सुनिश्चित करे कि उनकी पानी की पाइपें भूमिगत हो, ताकि बर्फबारी के दौरान वो न जमे तथा पानी की आपूर्ति किसी भी रूप में बाधित न हो।

उन्होंने कहा कि नगर निगम शिमला शहर में प्रमुख मार्गों को खोलने के लिए सभी तैयारियों को सुनिश्चित करे, जिसके तहत स्वास्थ्य संस्थाओं आवागमन के लिए प्रयोग होने वाले नियमित मार्ग तथा अन्य आपातकालीन मार्गों को प्राथमिकता के आधार पर खोले रख सकें। पैदल चलने वाले मार्गों पर फिसलन को रोकने के लिए भी समुचित प्रबंध किए जाने आवश्यक है।
 

Share this story