विराट कोहली ने छोड़ी टेस्ट टीम की कप्तानी, दक्षिण अफ्रीका से सीरीज हारने के बाद उठाया कदम

Virat Kohli left the captaincy of the Test team, took the step after losing the series to South Africa

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

  
  
नयी दिल्ली। विराट कोहली ने शनिवार को भारत की टेस्ट टीम  की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है। उन्होंने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी। भारत को हाल ही में साउथ अफ्रीका के हाथों तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 से मात खानी पड़ी थी। कोहली ने आईसीसी टी20 विश्व कप से  पहले टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया था। इसके बाद चयनकर्ताओं ने उन्हें वनडे टीम की कप्तानी से हटा दिया था। अब कोहली ने टेस्ट टीम की कप्तानी भी छोड़ दी है।

विराट ने हालिया समय में अपनी हर टीम की कप्तानी या तो छोड़ दी या उन्हें हटा दिया गया। विराट आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान भी थे लेकिन वह अपनी टीम को एक भी खिताब नहीं दिला पाए थे और इसलिए आईपीएल-2021 के बाद उन्होंने इस टीम की कप्तानी भी छोड़ी दी थी।

सोशल मीडिया पर लिखा भावुक संदेश
विराट ने कप्तानी छोड़ने की घोषणा एक बयान जार कर की जिसमें उन्होंने कहा, “मैंने सात साल तक टीम को कड़ी मेहनत से सही दिशा में ले जाने की कोशिश की। मैंने अपना काम पूरी ईमानदारी से किया और कुछ भी कमी नहीं छोड़ी।  हर चीज का कभी न कभी अंत होता है और अब मेरे टेस्ट कप्तान के सफर का भी हो गया।”

उन्होंने कहा, “इस सफर में कई उतार चढ़ाव रहे।  लेकिन कभी भी प्रयास और विश्वास की कमी नहीं रही। मैंने हमेशा हर चीज में अपना 120 प्रतिशत देने में विश्वास रखा। अगर मैं ये नहीं कर सका तो मुझे पता था कि ये सही चीज नहीं है मेरे दिन में पूरी स्पष्टता है।”

ऐसा रहा टेस्ट कप्तानी का सफर
कोहली को 2014 में महेंद्र सिंह धोनी के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर कप्तानी छोड़ने के बाद टेस्ट कप्तान बनाया गया था। विराट कोहली ने 68 टेस्ट मैचों में टीम की कप्तानी की जिसमें से 40 मैचों में उन्हें जीत मिली जबकि 17 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है, 11 मैच ड्रॉ रहे। उनकी कप्तानी में ही भारत ने 2018 में ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में टेस्ट सीरीज में मात दी और इतिहास रचा। कोहली की कप्तानी में ही टीम आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची लेकिन जीत हासिल नहीं कर सकी। उनकी कप्तानी ने टीम ने टेस्ट में नंबर-1 रैंकिंग हासिल की. उन्हीं की कप्तानी में भारत ने सेंचुरियन में पहली बार साउथ अफ्रीका को मात दी. टेस्ट में उनकी जीत का प्रतिशत 58.82 रहा।

कोहली की कप्तानी में भारत ने अपने घर में एक भी टेस्ट सीरीज नहीं गंवाई। उनकी कप्तानी ने भारत ने भारत में 11 टेस्ट सीरीज खेलीं और सभी में जीत हासिल की। ऑस्ट्रेलिया के अलावा कोहली की कप्तानी में भारत ने श्रीलंका और वेस्टइंडीज मे भी जीत हासिल की।

इन लोगों का कहा शुक्रिया
कोहली ने बीसीसीआई, टीम इंडिया के पूर्व मुख्च कोच रवि शास्त्री और महेंद्र सिंह धोनी का शुक्रिया कहा है। उन्होंने लिखा, “मैं बीसीसीआई का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मुझे इतने लंबे समय तक टीम की कप्तानी करने का मौका दिया। साथ ही अपने सभी साथियों का जो टीम में वो विजन लेकर आए जिसकी मैंने पहले दिन से कल्पना की थी और उन्होंने किसी भी स्थिति में हार नहीं मानी। आप लोगों ने इस सफर को यादगार और सुंदर बनाया। रवि भाई का शुक्रिया, साथ ही उस सपोर्ट ग्रुप का जो हमारे पीछे रहे। आप सभी ने बड़ा रोल अदा किया। आखिर में बहुत शुक्रिया एमएस धोनी का जिन्होंने कप्तान के तौर पर मुझ पर विश्वास जताया। ”

यह भी पढ़ें : 

पुजारा और रहाणे के बारे में कोहली ने कहा, चयनकर्ता क्या फैसला करते हैं, मैं स्पष्ट रूप से टिप्पणी नहीं करूंगा

Share this story