विकास कृष्ण बोले- टोक्यो ओलंपिक में दोहराएंगे विजेंद्र की उपलब्धि

newspoint24.com/newsdesk

जयपुर । स्टार भारतीय मुक्केबाजा विकास कृष्ण यादव एक बार फिर देश के मान बढ़ाने के लिए तैयार हैं। कोरोना वायरस की वजह से देश में लगे लॉकडाउन का प्रयोग प्रशिक्षण के लिए करने के बाद विकास ने खुद को आगामी टोक्यो ओलंपिक के लिए तैयार बताया है।

उन्होंने कहा कि वह पिछले दिनों में अमेरिका में अपने कोच रोनाल्ड सिम्स के लिए प्रैक्टिस करते रहे हैं और अब वो भारत लौटे हैं। उन्होंने कहा कि इस बार ओलंपिक में वो दुनिया को दिखाने जा रहे हैं कि बॉक्सिंग एक कला है। तीसरी बार ओलंपिक खेलने के लिए टोक्यो जाने वाले विकास कृष्ण यादव अपने साथ एक उपलब्धि भी ले जा रहे हैं। 

कुछ ही महीनों में शुरू होने वाले टोक्यो ओलंपिक में खेलते ही विकास दूसरे भारतीय पुरुष मुक्केबाज बन जाएंगे, जिसने तीन बार ओलंपिक में भाग लिया है। इससे पहले यह रिकॉर्ड विजेंद्र सिंह के नाम था, जिन्होंने वर्ष 2008 में बीजिंग ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था। 

ओलंपिक खेलों में भाग लेने वाले 28 वर्षीय खिलाड़ी का मानना है कि यह उनके लिए भाग्यशाली होगा कि वे तीसरी बार ओलंपिक में भाग ले रहे हैं और अब वे ओलंपिक क्वालीफिकेशन कैंपेन में सफलता प्राप्त करने के बाद देश के लिए स्वर्ण पदक प्राप्त करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, “मेरा उद्देश्य इस बार देश के लिए स्वर्ण पदक जीतना है। मैंने दो बार देश का प्रतिनिधित्व किया है लेकिन अब स्वर्ण पदक को हथियाने का समय आ गया है।”

उन्होंने यह भी कहा, मैं दुनिया को दिखाने जा रहा हूं कि मुक्केबाजी एक कला है।" टोक्यो ओलंपिक में जाने वाले भारतीय दल को लेकर भी विकास कृष्ण ने काफी भरोसा जता है। उनका कहना है कि हमें काफी मजबूत टीम मिली है, हमारी टीम में अमित पंघाल, मनीष कौशिक, सतीश कुमार और आशीष चौधरी जैसे दमदार खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा कि हमारे दल में युवा और अनुभवी दोनों खिलाड़ियों का बेहतर संयोजन है। हम ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। 

Share this story