खेल के माध्यम से अनुशासित खिलाड़ियों का निर्माण करती है क्रीड़ा भारती : जितेश

खेल के माध्यम से अनुशासित खिलाड़ियों का निर्माण करती है क्रीड़ा भारती : जितेश

Newspoint24 / newsdesk

बेगूसराय । राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अनुषांगिक खेल इकाई क्रीड़ा भारती के खेल दिवस पखवाड़ा का समापन फुटबॉल (बालक) टूर्नामेंट के साथ हो गया। क्रीड़ा भारती बेगूसराय की ओर से मटिहानी उच्च विद्यालय के मैदान में आयोजित मैच में एफसीए की टीम चैंपियन बनी है। कार्यक्रम का उद्घाटन मेजर ध्यानचंद एवं स्मृतिशेष विवेक के तैलचित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला प्रचारक जितेश कुमार, जिला व्यवस्था प्रमुख दीपक कुमार एवं वरिष्ठ भाजपा नेता ललन प्रसाद सिंह समेत अन्य ने किया।

इस आयोजन में मटिहानी, बलिया, खरहट एवं एफसीए बेगूसराय की टीम ने भाग लिया। फाइनल मुकाबला एफसीए एवं मटिहानी टीम के बीच में खेला गया, जिसमें निर्धारित समय में किसी टीम के गोल नहीं करने पर पेनाल्टी सूट आउट में एफसीए बेगूसराय की टीम ने मटिहानी को 5-4 के अंतर से हराकर जीत दर्ज कर चैंपियन बन गया। बेस्ट खिलाड़ी मटिहानी टीम के रितिक कुमार रहे, जिन्होंने बेहतर पास एवं गेंद पर नियंत्रण करते हुए अपनी विधा का बेहतरीन प्रयोग किया। जबकि पुरस्कार वितरण में फुटबॉल संघ के जिला उपाध्यक्ष सुरेश चौहान, पूर्व खिलाड़ी टुनटुन कुमार, जिला खेल संयोजक विश्वजीत कुमार मौजूद थे। विजेता एवं उपविजेता टीम को ट्रॉफी एवं खिलाड़ियों को मेडल प्रदान कर सम्मानित किया गया। इसके बाद खिलाड़ी विवेक के पिता रामप्रकाश राय एवं फुटबॉल के कई पूर्व खिलाड़ियों को सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला प्रचारक जतेश कुमार ने कहा कि संघ की अनुषांगिक संगठन क्रीड़ा भारती देश में खेल के माध्यम से अनुशासित, चरित्रवान राष्ट्रवादी खिलाड़ियों का निर्माण कार्य कर रही है। खेल समाज को जोड़ने का सबसे बड़ा माध्यम है जो तन, मन तंदुरुस्त करने का सबसे बड़ा माध्यम है। अगर आप ईमानदार प्रयास करें तो सफलता जरूर मिलेगी, पैरा ओलंपिक खेल इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। भाजपा नेता ललन प्रसाद सिंह ने कहा कि क्रीड़ा भारती का प्रयास अनुपम है। जिन्होंने खेल के माध्यम से युवाओं को संगठन एवं समाज से जुड़ने का अवसर प्रदान किया है। इसी तरह का निरंतर प्रयास करते रहना है ताकि अधिक से अधिक युवा खेलों के माध्यम से संगठन एवं समाज से जुड़े।

डॉ. बबन कुमार पवन ने कहा कि खेल ईश्वर की आराधना है, जो धर्म एवं जाति की दीवार को तोड़कर एक साथ खेलने की प्रेरणा देती है। क्रीड़ा भारती के इस तरह का आयोजन गांव एवं समाज में उत्साह का संवर्धन करता है। अध्यक्षता मटिहानी खंड कार्यवाह रामरतन सिंह, संचालन क्रीड़ा भारती के जिला मंत्री रणधीर कुमार तथा धन्यवाद ज्ञापन कार्यक्रम केे सह संयोजक अमन कुमार ने किया।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story