मुंबई में कोरोना की नई लहर पर बीसीसीआई अलर्ट , आईपीएल के लिए हैदराबाद को आकस्मिक योजना में रखा

Newspoint24.com/newsdesk

नयी दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्राेल बोर्ड (बीसीसीआई) भारत, खासकर मुंबई में कोरोना के बढ़ते मामलों पर कड़ी नजर रखे हुए है और अभी भी इस बात को लेकर आश्वास्त है कि वह आगामी नौ अप्रैल से शुरू हो रहे आईपीएल के 14वें सत्र का सुचारू रूप से संचालन कर सकेगा, हालांकि बीसीसीआई ने हैदराबाद को बैक-अप आयोजन स्थल विकल्प के रूप में अपनी आकस्मिक योजना में रखा है, जो आईपीएल 2021 के आयोजन के लिए नामित छह मेजबान शहरों में शामिल नहीं है।


इसमें कोई शक नहीं है कि मार्च के महीने में फिर से देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं, जिसे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोरोना की दूसरी लहर के रूप में स्वीकार किया है, जो पिछले की तुलना में अधिक गंभीर है, क्योंकि महाराष्ट्र, खासकर मुंबई में इसका खासा प्रभाव देखने को मिल रहा है, इसलिए मुंबई में लॉकडाउन की संभावना है।


उद्धव ठाकरे ने शनिवार को कहा, '' आज मैं मुंबई में पूर्ण लॉकडाउन के संकेत दे रहा हूं, लेकिन फिलहाल औपचारिक रूप से इसकी घोषणा नहीं की जा रही है। अगर कुछ दिनों में स्थिति में सुधार नहीं होता है और कोई अन्य समाधान नहीं मिलता है तो हमें एक और लॉकडाउन की घोषणा करनी होगी, जैसे कि वैश्विक स्तर पर किया जा रहा है। ''


इस बीच बीसीसीआई आश्वास्त है कि आगामी दिनों में स्थिति बदलने से भी आईपीएल के बायो-बबल (जैव सुरक्षित वातावरण) पर कोई प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए, क्योंकि मैच बिना दर्शकों की मौजूदगी में बायो-बबल में आयोजित होने हैं। मुंबई में अपने शुरुआती मैच खेलने वाली चारों टीमें चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके), दिल्ली कैपिटल (डीसी), पंजाब किंग्स (पीके) और राजस्थान रॉयल्स (आरआर) विशेष आवास में रह रही हैं और बायो-बबल के बाहर किसी भी व्यक्ति के संपर्क में नहीं आएंगी। समझा जाता है कि मुंबई में मौजूद फ्रेंचाइजियों ने कहा कि फिलहाल उनके साथ हैदराबाद जाने के बारे में कोई बात नहीं की गई है और उन्हें भरोसा जताया गया है कि मैच निर्धारित शैड्यूल के अनुसार ही आयोजित होंगे।


उधर मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (एमसीए) भी इस बात को लेकर आश्वस्त है कि मैचों को यहां से स्थानांतरित नहीं किया जाएगा, क्योंकि सभी मुकाबले जैव-सुरक्षित वातावरण में खेले जाने हैं। एमसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वह लोगों की बेचैनी को समझते हैं, लेकिन यह भी आंशिक रूप से है, क्योंकि राज्य सरकार कोरोना टेस्ट को लेकर आक्रामक रही है। एमसीए को अभी तक सरकार से लॉकडाउन के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है और अगर यह लगाया जाता है तो मुंबई में होने वाले मैचों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

Share this story