दूसरे टेस्ट में उतरते ही इंग्लैंड के सर्वाधिक टेस्ट खेलने वाले खिलाड़ी बन सकते हैं एंडरसन

दूसरे टेस्ट में उतरते ही इंग्लैंड के सर्वाधिक टेस्ट खेलने वाले खिलाड़ी बन सकते हैं एंडरसन

Newspoint24.com/newsdesk

लंदन।  इंग्लैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन का मानना है कि वह टेस्ट क्रिकेट के लिए बहुत अच्छे नहीं हैं। एंडरसन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 10 जून से शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट मैच से पहले अपने टेस्ट सफर के अनुभव साझा किए हैं।
एंडरसन ने मंगलवार को एक बयान में कहा, “ मुझे लगता है कि यह काउंटी क्रिकेट से बहुत बड़ा कदम है। मुझे याद है कि मेरे पहले मैच में नासिर ने मेरे लिए फाइन लेग पर फील्ड नहीं लगाई थी और मैं काफी रन दे चुका था। मेरी पहली गेंद भी नो बॉल थी, इसलिए उस वक्त मैं काफी नर्वस था और उस समय मैंने नहीं सोचा था कि आज मैं यहां तक पहुंचुंगा। ”
समझा जाता है कि एंडरसन अगर 10 जून को न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट खेलते हैं तो उनके लिए यह मील के पत्थर की तरह होगा। यह मैच खेलने के बाद वह इंग्लैंड के पूर्व स्टार बल्लेबाज एलेस्टर कुक को सर्वाधिक टेस्ट मैच खेलने के मामले में पीछे छोड़ देंगे। यह उनका 162वां टेस्ट मैच होगा जो इंग्लैंड के किसी भी खिलाड़ी के लिए सबसे अधिक है।
एंडरसन ने कहा, “ टेस्ट क्रिकेट के यह 15 साल सच अविश्वसनीय रहे हैं। यह जानकर कि एलिस्टेयर कुक ने कितने टेस्ट मैच खेले हैं। मुझे बहुत गर्व होता है कि मैं सच में इस मुकाम तक पहुंचा हूं। इसमें कुछ साल लग गए। मुझे लगता है कि दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और भारत जैसी दुनिया की बेहतर टीमों के खिलाफ खेलना थोड़ा मुश्किल है। एक बार जब आप दुनिया की शीर्ष टीमों के खिलाफ प्रदर्शन करते हैं, तब आप महसूस कर सकते हैं कि आप सच में उस स्तर पर अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं, इसलिए मुझे यह सोचने पर मजबूर करने में कुछ साल और दुनिया भर के कुछ दौरे लगे कि मैं सच में ऐसा कर सकता हूं। ” उल्लेखनीय है कि एंडरसन ने 18 साल पहले 2003 में लॉर्ड्स में जिम्बाब्वे के खिलाफ टेस्ट पदार्पण किया था।

Share this story