कोरोना काल में बच्चों की देखभाल, आपका समय बच्चों के नाम हो

Newspoint24 /newsdesk Taking care of children in the Corona period, your time should be in the name of children

Newspoint24 /newsdesk   

देश के कई राज्यों में कोरोना प्रतिबन्धों में ढील दी जा रही है 
 कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमी है कोरोना गया नहीं है । बाजार खुल गये हैं। इसके बावजूद महामारी के संक्रमण से सतर्क रहना जरूरी है। 

 विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों के पॉज़िटिव होने की अधिक संभावना है। बुजुर्गों और बच्चों में रोगों के प्रति प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। ऐसे में इस दौर में बच्चों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। तीसरी लहर की सम्भावना को देख जिले में स्वास्थ्य विभाग ने 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का नमूना एकत्र करना शुरू कर दिया है। 

वाराणसी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वीबी सिंह ने कहा कि देश में कोरोना पॉज़िटिव की संख्या भले लगातार कम हो रही है। इसके चलते एक बार फिर से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। ऐसे में हमें स्वयं के साथ-साथ बच्चों का भी खास ख्याल रखना होगा। बहुत जरूरी हो तभी बच्चे को बाहर निकलने दें। बाहर निकलने से पहले स्वयं के साथ-साथ बच्चे को मास्क लगाएं। हर किसी से दो गज की दूरी रखें। साथ में सैनिटाइजर रखें ताकि समय-समय पर सैनिटाइज़ कर सकें। 

 उन्होंने कहा कि पिछले करीब एक साल से स्कूल, कोचिंग बंद होने और परीक्षाएं न होने से बच्चों में थोड़ी निराशा है। लेकिन घर पर रहकर पढ़ाई करने से उन्हें माता-पिता का भी भरपूर सहयोग मिला है। उन्होंने कहा कि टीवी और फोन बंद करके बच्चों के साथ बेहतर रिश्ते बनाने का एक अच्छा मौका है। बच्चों के साथ बेहतरीन समय बिताना मुफ्त और मज़ेदार होता है। यह बच्चों को प्यार और सुरक्षा का एहसास दिलाता है, और यह दिखाता है कि वह आपके लिए कितने महत्वपूर्ण हैं। 

बच्चे के साथ बिताने के लिए अलग-अलग समय तय करें 

 बच्चे के साथ बिताने के लिए अलग-अलग समय तय करें। ये समय सिर्फ 20 मिनट या उससे अधिक भी हो सकता है, यह अभिभावकों पर निर्भर करता है। हर रोज एक ही समय हो सकता जिससे बच्चे इस का इंतजार करें। 

- बच्चे से पूछें कि वह क्या करना चाहते हैं। 
- बच्चे (पांच वर्ष से नीचे) के साथ समय बिताने के तरीके  
- गाना गाएं, चम्मच व बर्तनों से संगीत बनाएं। 
- उनके चेहरे के भाव और आवाजों को दोहराएं। 
- कप या ब्लॉक को एक के ऊपर एक रखें। 

इसी तरह पांच से 12 वर्ष तक के बच्चों के साथ समय बिताने के लिए एक किताब पढ़ें और उसके सारांश को चित्रों की सहायता से बताएं,उनको लेकर बाहर या घर के आसपास टहलने के लिए जाएं। प्राकृतिक चीजों के बारे में जानकारी दें और उसे दोहराएं। नृत्य और फ़्रीजी खेलें। एक साथ घर का काम करें, सफाई और खाना बनाने को एक खेल बनाएं। स्कूल के काम में मदद करें। 

किशोर वय बच्चों ​के साथ उनकी पसंदीदा चीजें जैसे खेल, टीवी शो, उनके दोस्तों के बारें में बात करें। उनके साथ बाहर या घर के आसपास टहलने के लिए जाएं। साथ में कसरत, व्यायाम और योगा करें,साथ में खाना खाएं।

Share this story