रसायन मिश्रित हरी साग सब्जी से पेशाब और ब्लड कैंसर का खतरा काफी बढ़ जाता

Newspoint24.com/newsdesk/


 कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए कुछ व्यापारियों द्वारा रासायनिक द्रव्य का छिड़काव कर बाजार में साग सब्जी बेची जा रही है। जो स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है। चिकित्सकों के परामर्श के बाद भी अगर रसायन मिश्रित साग सब्जी का सेवन हो रहा है तो यह सेहत के साथ बड़ा खिलवाड़ है।

 


 कच्चे टमाटर को महज 24 घंटे में पकाने के लिए क्रिपोन-एक्स-1 नामक रासायनिक द्रव्य का छिड़काव किया जाता है। यह दृश्य मीडिया में सामने आया है। जिसको लेकर स्वास्थ्य के प्रति गंभीर खतरा उत्पन्न हुआ है। विक्रेता जहां एक ओर सब्जी कम समय में पकाने लिए क्रिपोन-एक्स-1 नामक रासायनिक द्रव्य का व्यवहार कर रहे हैं, वहीं साग सब्जियों को कम समय में बड़ा करने के लिए ईथेल नामक रासायनिक का व्यवहार किया जा रहा है।

डॉक्टरों की मानें तो क्रिपोन-एक्स-1 यह एक प्रकार का ऐसा केमिकल है जो फल हो काफी कम समय में पका देता है। क्रिपोन-एक्स-1  एक तरह से कार्बाईट की तरह से काम करता है। जिससे लोगों में दो प्रकार के कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। इस तरह की सब्जी का सेवन करने वाले लोगों को पेशाब और ब्लड कैंसर का खतरा काफी बढ़ जाता है।

रसायन युक्त सब्जियों को पकाकर बाजार में बेचा जा रहा है इसके बावजूद भी खाद्य आपूर्ति विभाग द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है। जिसको लेकर स्थानीय युवकों ने कहा है कि रसायनिक छिड़काव कर पकाई गई साग सब्जी फल को बाजार में बेचने से राज्य सरकार को रोकना चाहिए।

Share this story