कुर्सी से हटाये जाने की अटकलों के बीच बोले येदियुरप्पा किसी ने मुझसे मेरा इस्तीफा नहीं मांगा 

कुर्सी से हटाये जाने की अटकलों के बीच बोले येदियुरप्पा किसी ने मुझसे मेरा इस्तीफा नहीं मांगा

Newspoint 24 / newsdesk 

नयी दिल्ली,17 जुलाई (वार्ता) कर्नाटक में नेतृत्व परिवर्तन की खबरों के बीच मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने आज यहाँ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कई बड़े नेताओं के साथ बैठक की।

भाजपा सूत्रों के अनुसार श्री येदियुरप्पा ने गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के मुलाकात की। इससे पहले उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कल भेंट की थी।

श्री शाह से हुई बैठक के बाद श्री येदियुरप्पा ने संवाददाताओं से कहा, “श्री शाह ने मुझे कर्नाटक में सत्ता में वापस आने के लिए कड़ी मेहनत करने को कहा। साथ ही कहा कि लोकसभा चुनाव में और अधिक सीटें जीतनी चाहिए।”

उन्होंने कहा, “ गृह मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हम सौ फीसदी जीतेंगे और कर्नाटक में हमारा भविष्य उज्ज्वल है। श्री शाह ने कर्नाटक में पार्टी को मजबूत करने की जिम्मेदारी लेने की बात कही। मैंने उनको विश्वास दिलाया है कि मैं पीछे नहीं हटूंगा और पूरी जिम्मेदारी लूंगा।”

श्री येदियुरप्पा ने भाजपा अध्यक्ष श्री नड्डा से मुलाकात के बाद अपने इस्तीफे की अटकलों को खारिज करते हुए कहा,“ऐसी खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। किसी ने मुझसे मेरा इस्तीफा नहीं मांगा। ऐसी कोई स्थिति नहीं बनी। राज्य में नेतृत्व परिवर्तन पर कोई चर्चा नहीं हुई। श्री नड्डा से मेरी कर्नाटक में पार्टी के विकास पर विस्तार से चर्चा हुई। मेरे बारे में उनकी बहुत अच्छी राय है। मैं राज्य में फिर से सत्ता में आने के लिए पार्टी के लिए काम करूंगा।”

श्री येदियुरप्पा ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लगभग 20 मिनट की मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद उन्होंने कहा था कि उन्होंने प्रधानमंत्री से मेकेदातु बांध परियोजना सहित राज्य के विकास से जुड़ी लंबित परियोजनाओं के जल्द क्रियान्वयन का आग्रह किया।

उल्लेखनीय है कि श्री येदियुरप्पा के इस्तीफे की अटकलों को लेकर कई खबरें आ रही थीं। यह बैठक ऐसे समय में हुई है जब ऐसी अटकलें लगायी जा रही हैं कि श्री येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद से हटाया जा रहा है। कर्नाटक भाजपा के कुछ असंतुष्ट नेता श्री येदियुरप्पा और उनके परिवार पर भ्रष्टाचार तथा प्रशासन में हस्तक्षेप के आरोपों को लेकर निशाना साध रहे हैं। पार्टी का एक गुट उनकी उनकी उम्र को देखते हुए उन्हें हटाने की मांग कर रहा है तथा 2023 के विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री का नया चेहरा पेश करने पर जोर दे रहा है।

Share this story