बिजली सयंत्रों में कोयले की कमी नहीं: आरके सिंह

बिजली सयंत्रों में कोयले की कमी नहीं: आरके सिंह

Newspoint24 / newsdesk /एजेंसी इनपुट के साथ 

नयी दिल्ली। ऊर्जा मंत्री आर. के. सिंह ने दिल्ली की वितरण कंपनियों को बिजली की आपूर्ति करने वाले संयंत्रों सहित सभी ताप विद्युत संयंत्रों में कोयले की स्थिति की समीक्षा करते हुए रविवार को कहा कि कोयले की कमी नही है और सभी संयंत्रों में पर्याप्त कोयला उपलब्ध कराया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि सभी ऊर्जा सयंत्रों को पर्याप्त कोयला उपलब्ध कराया जा रहा है।

उनका कहना था कि शनिवार को सभी स्रोतों से कोयले का कुल प्रेषण 1.92 टन था जबकि कुल खपत 1.87 टन थी। इस प्रकार, कोयले का प्रेषण खपत से अधिक हो गया है जिससे कोयला की उपलब्धता क्षमता में लगातार बदलाव आ रहा है।

उन्होंने कहा कि बिजली संयंत्र में कोयले का स्टॉक चार दिन से अधिक की ज़रूरत के लिए है और कोयले की कमी के कारण बिजली संकट की गलत आशंका व्यक्त की जा रही है। कोयले की आपूर्ति तेज से बढ़ रही है और बिजली संयंत्र में कोयले के स्टॉक में सुधार होगा।
श्री सिंह ने अधिकारियों से कहा कि दिल्ली की वितरण कंपनियों को मांग के अनुसार बिजली दी जाएगी।

शनिवार को ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि कोयले की कमी के कारण राष्ट्रीय राजधानी के लोगों को बिजली संकट का सामना करना पड़ सकता है।

इसके साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में बिजली की आपूर्ति करने वाले उत्पादन संयंत्रों में कोयला और गैस पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया।

वहीं दिल्ली सरकार ने कहा कि बवाना संयंत्र में गैस की आपूर्ति बहाल होने के बाद दो दिन के लिए संकट टल गया है। उन्होंने कहा कि अगर आने वाले दिनों में एनटीपीसी लिमिटेड की ओर से बिजली की आपूर्ति नहीं की गई तो राष्ट्रीय राजधानी में 'ब्लैकआउट' हो सकता है।

वहीं बिजली वितरण कंपनियों ने जानकारी दी थी देशभर में कोयले की कमी के कारण बिजली उत्पादन कम हो गया है और आने वाले दिनों में दिल्ली में बारी-बारी से बिजली कटौती हो सकती है।

उनके अनुसार 20 दिन के मुकाबले सिर्फ एक-दो दिन के लिए ही उत्पादन आवश्यकताओं को पूरा करने को कोयला भंडार है। दिल्ली सरकार के अलावा, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने भी प्रधानमंत्री को इस मामले में पत्र लिखकर कोयला सप्लाई बढ़ाने को कहा है।

वहीं राजस्थान, पंजाब, ओडिशा, तमिलनाडु से भी बिजली की कमी की जानकारी मिली है। 

Share this story