किसान आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के परिवारों के लिए तेलंगाना सरकार तीन-तीन लाख रुपये की सहायता देगी 

Telangana government will provide assistance of three lakh rupees each for the families of farmers killed during the farmers' agitation.

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ 
 
 हैदराबाद। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव  ने बड़ा ऐलान किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा के एक दिन बाद तेलंगाना राष्ट्र समिति पार्टी के प्रमुख एवं मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने शनिवार शाम को किसान आंदोलन के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले किसानों के परिवारों को तीन-तीन लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की।

साथ ही सीएम ने केंद्र सरकार से किसानों के शोक संतप्त परिवारों को 25-25 लाख रुपये प्रदान करने की घोषणा करने की मांग की। राव ने एक प्रेस कॉन्फेंस को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने इस मानवीय कार्य (सहायता के लिए) के लिए 22 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं और किसान आंदोलन के नेताओं से आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों का विवरण भेजने का अनुरोध किया।


कृषि कानून विरोधी आंदोलन में 700 से अधिक किसानों की जान गई
कृषि कानून विरोधी आंदोलन के दौरान 700 से अधिक किसानों की जान गई थी। चंद्रशेखर राव के बेटे केटीआर ने इस फैसले की जानकारी देते हुए ट्वीट भी किया है। उन्होंने कहा है कि कृषि कानूनों के खिलाफ लड़ते हुए जान गंवाने वाले 750 से ज्यादा किसानों के परिवारों की मदद का निर्णय तेलंगाना सरकार ने किया है।

केंद्र सरकार को दर्ज मुकदमों को भी बिना किसी शर्त के वापस लेना चाहिए
तेलंगाना सरकार में मंत्री केटीआर ने कहा है कि केंद्र सरकार को सभी किसानों पर दर्ज मुकदमों को भी बिना किसी शर्त के वापस लेना चाहिए। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 नवंबर को गुरु परब के अवसर पर तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की घोषणा की थी।

साथ ही प्रधानमंत्री ने न्यूनतम समर्थन मूल्य से जुड़े मुद्दों पर एक समिति बनाने की भी घोषणा की। हालांकि इसके बाद भी किसानों का आंदोलन जारी है, क्योंकि किसान नेताओं का कहना है कि उनकी अन्य मांगों पर विचार नहीं किया गया है।

Share this story