प्रियंका की मैराथन बैठकों से 2022 के यूपी चुनावों से पहले कांग्रेस में हलचल तेज 

प्रियंका की मैराथन बैठकों से 2022 के यूपी चुनावों से पहले कांग्रेस में हलचल तेज

newspoint 24 / newsdesk 

8 लोग, लोग बैठ रहे हैं, लोग खड़े हैं और अंदर की फ़ोटो हो सकती है
प्रियंका की मैराथन बैठकों से यूपी कांग्रेस में आयी गर्मी

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर लखनऊ में डेरा जमाये कांग्रेस महासचिव और प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा की जोनवार बैठकों का दौर शनिवार को भी जारी है।

अपने लखनऊ दौरे के तीसरे दिन श्रीमती वाड्रा आज सुबह ही पार्टी दफ्तर पहुंच गयी और बचे हुये चार जोन के नेताओं और पदाधिकारियों से फीडबैक और तैयारी की समीक्षा करने में मशगूल हो गयी। कांग्रेस महासचिव ने शुक्रवार देर रात तक चली बैठक में चार जोन के पदाधिकारियों से फीडबैक हासिल किया था और उन्हे जरूरी दिशा निर्देश दिये थे। उनके आज शाम तक रायबरेली जाने की संभावना है।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि जोन के पदाधिकारियों से श्रीमती वाड्रा चुनावी रणनीति के अलावा संगठनात्मक ढांचे और प्रचार के बारे में बारीकी से फीडबैक ले रही है। वह हर नेता और पदाधिकारियों से गांव गांव के बारे में जानने समझने की कोशिश में लगी है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 96 ब्लाक और 874 न्याय पंचायत की समीक्षा पूरी हो चुकी है। इस दौरान उन्होने किसान आंदोलन और इसे लेकर ग्रामीणों के रूझान के बारे में फीडबैक प्राप्त किया।

11 लोग, लोग खड़े हैं, लोग बैठ रहे हैं और अंदर की फ़ोटो हो सकती है

पार्टी महासचिव ने संगठन के कामकाज और पार्टी के प्रति जनता के विश्वास की जमीनी सच्चाई के बारे में पड़ताल की। उन्होने 20 सितम्बर से शुरू होने वाली कांग्रेस प्रतिज्ञा यात्रा: हम वचन निभायेंगे के सफल आयोजन के लिये कार्यकर्ताओं और नेताओं को कमर कस के जुटने का आवाहन किया । 12 हजार किमी का सफर तय करने वाली इस यात्रा का समापन लखनऊ में होगा। यात्रा का रूट आगामी बैठक में साफ किया जायेगा।

पार्टी की पांच अक्टूबर को होने वाली चुनाव समिति की बैठक में विधानसभा चुनाव के लिये प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की जा सकती है।

टिकट बंटवारे में संगठन की भूमिका महत्वपूर्ण: प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिये कार्यकर्ताओं को रात दिन मेहनत करने की नसीहत देते हुये कहा कि टिकट बंटवारे में संगठन की भूमिका महत्वपूर्ण होगी।

श्रीमती वाड्रा ने पार्टी के प्रदेश कार्यालय में लगातार दूसरे दिन शनिवार को मैराथन बैठकें कर संगठन की व्यापक समीक्षा के साथ-साथ जमीनी रूझानों एवं चुनावी रणनीति पर मंथन किया। उन्होनें एक एक पदाधिकारी से रिपोर्ट और फीडबैक प्राप्त किया। पश्चिमी उत्तर प्रदेश, रूहेलखण्ड एवं मध्य उत्तर प्रदेश के जिलों की ब्लाक एवं न्याय पंचायतवार समीक्षा की तथा पदाधिकारियों से आगामी रणनीति पर व्यापक विचार विमर्श किया।

उन्होनें कहा कि संगठन का काम अब आखिरी चरण में पहुंच चुका है तथा आगामी चुनाव में टिकट बटवारे में संगठन की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। उन्होने विधान सभा चुनाव के मद्देनजर जोनवार पदाधिकारियों से चर्चा की। दो दिन तक चलने वाले मैराथन बैठकों में प्रदेश के आठों जोन के पदाधिकारी शामिल हुये। इसके अलावा जिला एवं शहर अध्यक्ष, प्रदेश सचिव, महासचिव और प्रदेश उपाध्यक्षों से एक-एक करके रिपोर्ट प्राप्त किया।

कांग्रेस महासचिव ने प्रदेश के 831 ब्लाकों 2614 वार्डो और 8134 न्याय पंचायत की रिपोर्ट पर व्यापक विचार विमर्श व समीक्षा किया। पश्चिमी जोन के अन्तर्गत आने वाले 96 ब्लाकों के 874 न्यायपंचायतों पर चर्चा हुई तथा किसान आंदोलन से जुड़े तमाम मुद्दों पर श्रीमती वाड्रा ने पदाधिकारियों से विचार विमर्श किया। रूहेलखण्ड जोन के 85 ब्लाकों के 830 न्याय पंचायतों की रिपोर्ट प्राप्त कर गहन समीक्षा की। अंत में पूर्वांचल और अवध जोन की बैठकें सम्पन्न हुई, जिसमें पूर्वांचल के 97 ब्लाकों की 975 न्यायपंचायतों के संगठन पर चर्चा हुई तथा अवध के 133 ब्लाकों और 1330 न्याय पंचायतों पर महासचिव ने रिपोर्ट प्राप्त किया।

पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता ने बताया कि श्रीमती वाड्रा ने सभी जोन की समीक्षा बैठकों में सगठन निर्माण पर जोर देते हुए कहा कि सिर्फ पार्टी के लिए ही नहीं वरन् देश निर्माण के लिए भी मजबूत संगठन की जरूरत है। उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनाव बिलकुल नजदीक हैं इसलिए कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं को दिन रात कार्य करने की जरूरत है। टिकट बॅंटवारें पर उन्होनें कहा कि उम्मीदवारों के नाम तय करने की प्रक्रिया में संगठन के पदाधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी।

रायबरेली की नब्ज को रविवार को टटोलेंगी प्रियंका

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के संगठनात्मक ढांचे को मजबूत करने की कवायद मे जुटी प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा रविवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली का दौरा करेंगी।

लखनऊ में पिछले तीन दिनों से डेरा जमाये कांग्रेस महासचिव को शनिवार शाम रायबरेली के लिये निकलना था लेकिन ताबड़तोड़ बैठकों के चलते उन्हे अपना कार्यक्रम बदलना पड़ा। पार्टी सूत्रों के अनुसार श्रीमती वाड्रा रविवार सुबह करीब आठ बजे लखनऊ से रायबरेली रवाना होंगी जहां उनका चूरूवा बॉर्डर से भुएमऊ तक भव्य स्वागत किया जायेगा।

पार्टी महासचिव 11 बजे से जिला कांग्रेस कमेटी, ब्लॉक अध्यक्ष, न्याय पंचायत अध्यक्ष, नगर अध्यक्ष के साथ बैठक कर ग्रामीण क्षेत्रों में कांग्रेस के प्रति लोगों के रूझान से रूबरू होंगी। इसके बाद वह शहर कांग्रेस कमेटी, वार्ड अध्यक्ष साथ बैठक करेंगी।

श्रीमती वाड्रा दोपहर 12.15 से 12.45 तक फ्रंटल, विभाग प्रकोष्ठ के अध्यक्ष साथ बैठक करेंगी जबकि 12.45 से 1.15 तक पीसीसी सदस्यों साथ विचार विमर्श कर चुनावी रणनीति को अंजाम देंगी। प्रदेश प्रभारी दोपहर ढाई बजे से पूर्व विधायक, पूर्व प्रत्याशी साथ बैठक करेंगी जिसके बाद जिला पंचायत सदस्यों साथ बैठक करेंगी। वह शाम को एक घंटा वरिष्ठ कांग्रेस जनों के साथ बैठक कर उनके अनुभवों को जानेंगी जबकि शाम पांच से साढ़े साते बजे तक वह आम लोगों की समस्यायें और सुझावों को सुनेंगी और उनके समक्ष पार्टी का पक्ष रखेंगी।

कांग्रेस महासचिव रात 8 से 9.30 तक सामाजिक संगठनों साथ बैठक करेंगी जिसमे उद्योग, जेसीसी, रोटरी क्लब, आईएमए, रायबरेली क्लब और केमिस्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधि रहेंगे।

Share this story