आशीष की गिरफ्तारी के बाद अजय मिश्र के इस्तीफे पर विपक्ष लामबंद

Ajay Mishra

Newspoint24 /newsdesk /एजेंसी इनपुट के साथ

लखनऊ। लखीमपुर हिंसा मामले में छह दिन बाद नामजद आरोपी आशीष मिश्र की गिरफ्तारी के बाद विपक्षी दल अब उनके पिता एवं केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के इस्तीफे पर लामबंद होने लगे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखीमपुर हिंसा मामले की जांच के लिये एसआईटी का गठन किया था। एसआईटी का नेतृत्व कर रहे पुलिस उपमहानिरीक्षक उपेन्द्र अग्रवाल ने शनिवार रात पत्रकारों को बताया कि जांच में सहयोग न देने के चलते आशीष को गिरफ्तार किया गया है। उसे कल अदालत में पेश किया जायेगा।
कांग्रेस और समाजवादी पार्टी (सपा) ने आशीष की गिरफ्तारी का स्वागत करते हुये कहा कि न्याय की इस जंग में अभी पहली जीत हुयी है मगर जब तक केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी का इस्तीफा नहीं होता , तब तक पुलिस से निष्पक्ष जांच की उम्मीद करना बेकार है।

सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि योगी सरकार को बताना चाहिये कि समाजवादियों के सड़क पर उतरने के बाद ही वह क्या कोई ठोस कार्रवाई करेंगे। छह दिन तक आरोपी की गिरफ्तारी क्यों टाली गयी, इसका जवाब सरकार को देना होगा। सुप्रीम कोर्ट के दखल और विपक्ष के दवाब के चलते सरकार को केन्द्रीय मंत्री के पुत्र के खिलाफ मजबूरी में कार्रवाई करनी पड़ी।

उन्होने कहा कि केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के पद में रहते हुये इस संवेदनशील मामले में पुलिस से निष्पक्ष कार्रवाई की उम्मीद नही की जा सकती। इसलिये अब जब आशीष की गिरफ्तारी हो चुकी है तो केन्द्र को अविलंब अजय मिश्र को पद से हटा देना चाहिये या बर्खास्त कर देना चाहिये।

Share this story