नक्सलियों ने झारखंड के अलग-अगल जिलों में जमकर उत्पात मचाया , बम विस्फोट से रेलपटरी उड़ायी, इंजन पटरी से उतरा

Naxalites created ruckus in different districts of Jharkhand, blew up railway track due to bomb blast, engine derailed

शुक्रवार देर रात नक्सलियों ने झारखंड के अलग-अगल जिलों में जमकर उत्पात मचाया।

अब तक की सूचना के अनुसार, धनबाद और चक्रधरपुर रेल मंडल के अंतर्गत आने

वाले रेलवे ट्रैक को निशाना बनाया गया है। रेलवे ट्रैक पर ब्लास्ट कर पटरियों को क्षतिग्रस्त कर दिया है।

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ 


 
रांची।   शुक्रवार देर रात नक्सलियों ने झारखंड के अलग-अगल जिलों में जमकर उत्पात मचाया। अब तक की सूचना के अनुसार, धनबाद और चक्रधरपुर रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले रेलवे ट्रैक को निशाना बनाया गया है। रेलवे ट्रैक पर ब्लास्ट कर पटरियों को क्षतिग्रस्त कर दिया है। इस कारण दोनों रेल मंडल की 24 से अधिक ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है।

झारखंड के पलामू जिले में पूर्व मध्य रेलवे के धनबाद मंडल के गढ़वा रोड -बरकाना रेलखंड में अपराधियों द्वारा किये गये एक बम विस्फोट कर पटरी उड़ा देने से कल देर रात करीब एक बजे एक डीज़ल इंजन दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस घटना में जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है लेकिन रेललाइन पर दोनों दिशाओं में यातायात ठप्प हो गया है।

 रेलवे ट्रैक पर ब्लास्ट कर पटरियों को क्षतिग्रस्त कर दिया 

 शुक्रवार देर रात नक्सलियों ने झारखंड के अलग-अगल जिलों में जमकर उत्पात मचाया। अब तक की सूचना के अनुसार, धनबाद और चक्रधरपुर रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले रेलवे ट्रैक को निशाना बनाया गया है। रेलवे ट्रैक पर ब्लास्ट कर पटरियों को क्षतिग्रस्त कर दिया है। इस कारण दोनों रेल मंडल की 24 से अधिक ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है।

रेलवे के सूत्रों के अनुसार लातेहार स्थित रेलपथ निरीक्षक ने सूचना दी कि डेमू एवं रिचूघुट्टा स्टेशनों के बीच अप एवं डाउन दोनाें लाइनों को अपराधियों ने बम विस्फोट करके उड़ा दिया जिससे एक डीज़ल इंजन के दो पहिये करीब 12 बजकर 55 मिनट पर पटरी से उतर गया है। इससे दोनों लाइनों पर यातायात भी ठप्प हो गया है। इंजन के लोको पायलट एवं सहायक लोकोपायलट पूरी तरह से सुरक्षित हैं और जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है।

सूत्रों ने बताया कि अतिरिक्त मंडल रेल प्रबंधक, वरिष्ठ मंडल अभियंता, वरिष्ठ मंडल मैकेनिकल अभियंता रात में करीब तीन बजे घटनास्थल पर पहुंचे और करीब सवा तीन बजे ट्रैक को दुरुस्त करने का काम शुरू हो गया। यह रेलवे लाइन विद्युतीकृत एवं दोहरीकृत लाइन है।

Share this story