केजरीवाल का मास्टर स्ट्रोक : व्यापारियों-उद्योगपतियों को 2022 में बनने वाली 'आप' की सरकार में भागीदार बनने की अपील की 

केजरीवाल का मास्टर स्ट्रोक : व्यापारियों-उद्योगपतियों को 2022 में बनने वाली 'आप' की सरकार में भागीदार बनने की अपील की

Newspoint24 /newsdesk /एजेंसी इनपुट के साथ 

जालंधर। आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर मास्टर स्ट्रोक खेलते हुए जालंधर के व्यापारियों और कारोबारियों के साथ उद्योग, व्यापार और कारोबार के उत्थान के लिए 10 वायदे करते हुए उनको 2022 में बनने वाली 'आप' की सरकार में भागीदार बनने की अपील की।

श्री केजरीवाल ने व्यापारियों-कारोबारियों और उद्योगपतियों का साथ मांगते हुए कहा, “आप कांग्रेस-कैप्टन और बादल को परख कर देख चुके हैं, अब एक मौका हमें (आम आदमी पार्टी) को भी दो। हमें कारोबारियों से निधि नहीं चाहिए, हमें सिर्फ़ साथ चाहिए।”

श्री केजरीवाल बुधवार को जालंधर में आयोजित 'व्यापारियों और कारोबारियों के साथ, केजरीवाल की बातचीत' नाम के समागम को संबोधित कर रहे थे। यह समारोह जालंधर समेत पंजाब के कारोबारियों और व्यापारियों की समस्याओं और उनके हल के लिए सुझाव लेने के उदेश्य से आयोजित किया गया था। उन्होंने कहा कि पंजाब में 'एक मौका हमें भी दो, बाकी सभी को भूल जाओगे' जिसका उदाहरण 'आप' की दिल्ली सरकार ने लोगों के सामने पेश किया है।

उन्होंने व्यापारियों से वादा किया कि उनकी समस्याओं को पहल के आधार पर हल किया जाएगा। पंजाब के उद्योगों को 24 घंटे निर्विघ्न बिजली दी जायेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली में 'आप' की सरकार बनने से पहले बिजली के लंबे-लंबे कट लगते थे, जो सरकार बनने के बाद बिल्कुल बंद हो गए हैं। इसी तरह पंजाब में भी पार्टी की सरकार बनने के बाद बिजली कट बंद कर दिए जाएंगे।

श्री केजरीवाल ने राज्य से इंस्पेक्टर राज तथा लाल फीताशाही पूरी तरह ख़त्म कर दिए जाएंगे और पुराने ग़ैर ज़रूरी कानून रद्द किये जाएंगे और बाकी सुधारे जाएंगे। उन्होंने बताया कि दिल्ली में भी इंस्पेक्टरी राज ख़त्म किया गया। उन्होंने व्यापारियों से वैट रिफंड का वादा करते हुए कहा कि तीन से छह महीनों में वैट वापसी का प्रबंध किया जायेगा। औद्योगिक क्षेत्रों में इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत करने का वादा करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब में कई फोकल प्वाइंट, इंडस्ट्रियल एरिया सहित अनेक इंडस्ट्री फोकल प्वाइंट से बाहर भी स्थित हैं।

श्री केजरीवाल ने कहा कि वहां सडक़, पानी और सीवरेज समेत अनेक समस्याएं हैं, जिनके लिए आप की सरकार एक बजटीय प्रावधान लाकर उनका समाधान करेगी। उन्होंने इंफ्रास्ट्रक्चर बनाने के लिए विशेष बजट रखने का दावा किया। उन्होंने कहा कि पंजाब का 80 फ़ीसद उद्योग फोकल प्वाइंट्स से बाहर है, जिसके लिए विशेष पैकेज रखा जायेगा ताकि सड़कों का निर्माण और बिजली पानी का उचित प्रबंध किया जा सके। उन्होंने कहा कि औद्योगिक फोकल प्वाइंटों में दिए गए प्लाटों की अतिरिक्त कीमत वसूली बंद की जाएगी। उद्योग, कारोबार का प्लाट एक बार बेचने के बाद उद्योगपति से बार-बार पैसे लेना उनका उत्पीड़न करने वाला हथकंडा है। उन्होंने कहा, “औद्योगिक क्षेत्र बना कर दिए जाने वाले प्लाटों पर कारोबारी से सी.ऐल.यू नहीं लिया जायेगा और ज़मीन खरीदने के बाद उद्योग या व्यापार स्थापित करने के लिए अन्य सरकारी मंजूरियां भी बंद कर दीं जाएंगी। इसके अतिरिक्त उन्होंने गुंडा टैक्स बंद करने का भी वादा किया।”

श्री केजरीवाल ने पंजाब के विकास के लिए उद्योगपतियों और व्यापारियों को भागीदार बनने का न्योता देते हुए कहा कि उद्योगपतियों, व्यापारियों और सरकारी प्रतिनिधियों की एक सांझी समिति बनाई जायेगी, जिसका प्रमुख पंजाब का उद्योग मंत्री होगा। यह समिति हर महीने बैठक करेगी और तुरंत फ़ैसले करेगी।

इससे पहले 'आप' के पंजाब प्रधान भगवंत मान ने कहा, “राजनीति की दिशा और दशा बदल रही है। बड़ी-बड़ी पार्टियाँ 'आप' को देख कर राजनीतिक एजेंडे तय करने लगीं हैं।”

उन्होंने आराेप लगाया कि पंजाब से उद्योग बाहर जा रहे हैं। मंडी गोबिन्दगढ़ से लेकर धारीवाल गुरदासपुर तक के उद्योग और व्यापार दूसरे राज्यों में चले गए हैं क्योंकि यहाँ कोई औद्योगिक नीति ही नहीं है।

श्री केजरीवाल की उपस्थिति में पठानकोट इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट के अध्यक्ष विभूति शर्मा और अकाली दल बादल की महिला शाखा की प्रदेश महासचिव इंद्रजीत कौर मान आज आम आदमी पार्टी में शामिल हुए।

Share this story