हिमाचल में कई क्षेत्रों रुक-रुककर भारी बर्फबारी , यातायात बुरी तरह बाधित , आने वाले दिनों में भी भारी बर्फबारी  

Intermittent heavy snowfall in many areas in Himachal, traffic badly disrupted, heavy snowfall in the coming days too

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

नयी दिल्ली। उत्तर भारत में इस समय कड़ाके की ठंड पड़ रही है। हिमाचल में कई क्षेत्र ऐसे हैं जहां रुक-रुककर बर्फबारी लगातार जारी है। भारी मात्रा में बर्फबारी होने से आम जनता को बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। बर्फबारी के कारण प्रदेश की 238 सड़कों पर यातायात बुरी तरह बाधित है। 116 बिजली के पोल बर्फबारी के कारण टूट गए हैं और पानी की 7 स्कीमें प्रभावित हुई हैं। भारी बर्फबारी के कारण लाहौल स्पीति जिले की 162, चंबा की 46, कुल्लू की 18, किन्नौर की 8 मंडी की तीन और शिमला की एक सड़क यातायात की आवाजाही के लिए बंद हैं।

बर्फबारी के कारण चंबा में 79, किन्नौर में 4, कुल्लू में 11, लाहौल स्पीति में 9 और मंडी में बिजली के 13 पोल टूटने से क्षेत्र में बिजली की आपूर्ति बाधित हुई है। लाहौल-स्पीति जिला के मुख्यालय केलांग में हल्की बर्फबारी हुई, जबकि शिमला सहित मध्यवर्ती और मैदानी क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी के साथ बादल छाए रहे हैं।


आने वाले दिनों में बर्फबारी
आने वाले दो दिन पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय रहेगा। जिस वजह से प्रदेश में भारी बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है। 11 जनवरी को मैदानी भागों में मौसम के साफ रहने का अनुमान है। राज्य भर में कड़ाके की इस ठंड में तापमान काफी नीचे लुढ़क गया है। लाहौल-स्पीति जिला के मुख्यालय केलांग में न्यूनतम तापमान -9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

किन्नौर के कल्पा में न्यूनतम तापमान -4.1 डिग्री, मनाली में शून्य डिग्री, शिमला में 3.2 डिग्री, सुंदरनगर में 5.5 डिग्री, भुंतर में 5.2 डिग्री, धर्मशाला में 4.2 डिग्री, उना में 8.6 डिग्री, नाहन में 9.3 डिग्री, पालमपुर में 6.5 डिग्री, सोलन में 4.7 डिग्री, कांगड़ा में 8.4 डिग्री, मंडी में 7 डिग्री, बिलासपुर में 9 डिग्री, हमीरपुर में 8.8 डिग्री, चंबा में 7.6 डिग्री, डल्हौजी में 1.5 डिग्री, कुफरी में -1 डिग्री, जुब्बड़हट्टी में 5.6 डिग्री, पांवटा साहिब में 9.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है।

लाहौल में फंसे 90 पर्यटकों को मनाली पहुंचाया गया
लाहौल-स्पीति 4 और 5 जनवरी को हुई बर्फबारी के कारण अटल टनल मार्ग यातायात के लिए बंद होने के कारण लाहौल-स्पीति घूमने पहुंचे पर्यटक घाटी में ही फंस गए थे। इन पर्यटकों को घाटी से बाहर निकालने का कार्य लाहौल-स्पीति प्रशासन ने शुक्रवार को शुरू किया। लाहौल-स्पीति प्रशासन और बीआरओ ने घाटी की सड़क को फोर बाई फोर वाहनों के लिए बहाल कर दिया था।

लाहौल-स्पीति में फंसे बाहरी राज्यों के 90 पर्यटकों को मनाली पहुंचा दिया गया है. इनमें 76 पुरुष, 8 महिलाएं और 6 बच्चे शामिल थे। एसपी लाहुल-स्पीति मानव वर्मा ने बताया कि सभी पर्यटकों को रेस्क्यू कर मनाली भेज दिया है।

यह भी पढ़ें : 

पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में बढ़ी बारिश/बर्फबारी: आईएमडी

Share this story