आक्रोशित किसानों के गुस्से के बीच कड़ी सुरक्षा में हेलीकॉप्टर से निकले हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला

Newspoint24.com/newsdesk


सिरसा । तीन कृषि कानूनों से आक्रोशित किसानों के गुस्से को देखते हुए आज बाद दोपहर उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला कड़ी सुरक्षा के बीच शहर से निकल सके ।

गुस्साए किसानों ने स्थानीय विधायक और पूर्व गृह राज्य मंत्री गोपाल कांडा के पुतला फूंका व जमकर नारेबाजी की।

श्री दुष्यंत चौटाला के होली पर्व पर सिरसा प्रवास के दौरान किसान गुस्साए रहे, जहां किसानों ने उन्हें होली पर्व पर हम अपने समर्थकों के बीच मिठाई बांटने से रोका। किसानों के गुस्से को देखते हुए आज दुष्यंत चौटाला के सिरसा से प्रस्थान के लिए राज्य सरकार की ओर से उड़न खटोला का प्रबंध किया गया।

श्री चौटाला को भारी पुलिस फोर्स के साथ उनके आवास से निकालकर पुलिस लाइन में बने हेलीकॉप्टर तक ले जाया गया। किसानों ने जब पुलिस लाइन में दुष्यंत चौटाला को लेने आए हेलीकॉप्टर को देखा तो अलर्ट हो गए और एकत्रित होकर काले झंडे उठाए और विरोध जताते हुए पुलिस लाइन के मुख्य द्वार तक पहुंच गए ।आक्रोशित किसानों को रोकने के लिए पुलिस लाइन के ईर्द गिर्द भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।

किसानों ने पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेट्स के ऊपर चढ़कर श्री चौटाला को काले झंडे दिखाते हुए नारेबाजी की। आक्रोशित किसान हेलीपैड तक पहुंचने की जिद्द करते रहे मगर पुलिस ने जैसे-तैसे उनको रोक लिया।

दूसरी ओर विधानसभा सत्र के दौरान सिरसा के विधायक गोपाल कांडा द्वारा किसानों को काली भेड़ें कहने से भड़के किसान आज दोपहर गोपाल कांडा के सिरसा स्थित कार्यालय में नारेबाजी करते पहुंचे और पुतला दहन किया ।

किसानों को संबोधित करते हुए किसान नेता रणधीर जोधका ने कहा कि अगर गोपाल कांडा ने किसानों से माफी मांगते हुए विधानसभा में दिया अपना वक्तव्य वापस नहीं लिया तो उनका हाल पंजाब के अबोहर के भाजपा विधायक से भी बुरा होगा। गोपाल कांडा को गांव में नहीं घुसने देंगे। इस दौरान गोपाल कांडा के कार्यालय पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।

Share this story