गहलोत मंत्रिमंडल का पुनर्गठन 11 केबिनेट एवं चार राज्यमंत्री ने ली पद गोपनीयता की शपथ

Gehlot cabinet reconstituted 11 cabinets and four ministers of state took oath of office

शपथ ग्रहण समारोह में प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महासचिव अजय माकन,

पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी उपस्थित रहे।

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ 

जयपुर।  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मंत्रिमंडल का पुनर्गठन रविवार को हो गया। राज्यपाल कलराज मिश्र ने राजभवन में नए मंत्रियों को शपथ ग्रहण कराई। कुल 15 मंत्रियों ने शपथ ग्रहण की।

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र आज राजभवन में 11 कैबिनेट एवं चार राज्य मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी।

राजभवन में खचाखच भरे हाल में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल ने शपथ लेने के लिए जैसे ही पहले मंत्री हेमाराम चौधरी का नाम पुकारा तो कार्यकर्ताओं के जयकारों एवं नारेबाजी से हाल गुंज उठा। यह नारेबाजी क्रम शपथग्रहण कार्यक्रम पूरा होने तक चलता रहा।

राज्यपाल ने हेमाराम चौधरी, महेंद्र सिंह मालवीय, रामलाल जाट, महेश जोशी, विश्वेन्द्र सिंह, रमेश मीणा, गोविंद राम मेघवाल और शकुंतला रावत को केबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई।

  कलराज मिश्र ने निवर्तमान मंत्रिमंडल में शामिल ममता भूपेश, भजनलाल जाटव और टीकाराम जूली को कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई वहीं बृजेंद्र सिंह ओला, मुरारीलाल मीणा, राजेन्द्र गुढा और जाहिदा खान को राज्य मंत्री के रूप में शपथ दिलाई।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तीन मंत्रियों के संगठन में जाने के कारण इस्तीफा ले लिया जिसमें स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा, राजस्वमंत्री हरीश चौधरी एवं शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा शामिल है।

शपथ ग्रहण समारोह में प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महासचिव अजय माकन, पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी उपस्थित रहे।

इससे पहले प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी विधायकों की बैठक हुई। बैठक को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पार्टी के प्रदेश प्रभारी अजय माकन, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने संबोधित किया। बैठक में कई मंत्री, राज्य मंत्री से केबिनेट मंत्री बनने वाले एवं मंत्री के रूप में शपथ लेने वाले विधायक, पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट सहित कई विधायक बैठक में शामिल हुए। डोटासरा ने शपथ लेने वाले नए मंत्रियों को माला पहनाकर स्वागत किया गया। उन्हें तिलक लगाकर भी स्वागत किया गया।

12 जिलों से कोई मंत्री नहीं
मंत्रिमंडल पुनर्गठन के साथ ही मंत्रिमंडल के सभी 30 पद भर गए हैं। इसके बावजूद 12 जिले ऐसे हैं, जहां से कोई मंत्री नहीं बन सका। इनमें उदयपुर, प्रतापगढ़, डूंगरपुर, सिरोही, धौलपुर, टोंक, सवाई माधोपुर, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, चुरू, अजमेर, सीकर जिले शामिल हैं।

बर्खास्त को फिर बनाया मंत्री
गहलोत-पायलट खेमे की सियासी जंग के दौरान बर्खास्त किए गए दोनों मंत्रियों को पुन: मंत्री बनाया गया है। केनिबेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह और रमेश मीणा को पहले बर्खास्त किया गया था। दोनों को फिर से केबिनेट मंत्री बनाया गया है।

इन जिलों में सबसे ज्यादा मंत्री
प्रदेश के पांच जिले ऐसे हैं, जहां सबसे ज्यादा मंत्री हैं। जयपुर से 4, भरतपुर 4, दौसा 3, बीकानेर 3, झुंझुंनूं 2, बांसवाड़ा 2, अलवर 2, कोटा 2, भीलवाड़ा 1, बाड़मेर 1, करौली 1, जालौर 1, बूंदी 1, जैसलमेर 1, जोधपुर 1 विधायक मंत्री बने हैं।
गहलोत केबिनेट के चेहरे

केबिनेट मंत्री

-1 महेन्द्रजीत सिंह मालवीय
- सीएम अशोक गहलोत के करीबी।
- आदिवासी अंचल के कद्दावर विधायक।
- बांसवाड़ा की बागीदौरा से कांग्रेस विधायक।
- पिछली गहलोत सरकार में कैबिनेट मंत्री।

-2 डॉ. महेश जोशी
- सीएम गहलोत के विश्वस्तों में शुमार।
- अभी सरकारी मुख्य सचेतक के पद पर हैं।
- जयपुर संभाग से बड़ा चेहरा।
- जयपुर से लोकसभा सांसद रह चुके।

 
3- हेमाराम चौधरी
- मारवाड़ अंचल के कद्दावर जाट नेता।
- बाड़मेर के गुढ़ामालानी से विधायक।
- विधानसभा में रह चुके नेता प्रतिपक्ष।
- गहलोत सरकार के दूसरे कार्यकाल में रह चुके हैं कैबिनेट मंत्री।
- हरीश चौधरी के स्थान पर कैबिनेट में।

 
4- विश्वेंद्र सिंह
- भरतपुर राज परिवार के सदस्य।
- पहले पायलट अब गहलोत के समर्थक।
- पायलट कैंप का साथ देने पर किए गए थे मंत्रिमंडल से बर्खास्त।

5- रामलाल जाट
- सीपी जोशी और गहलोत के समर्थक।
- भीलवाड़ा के मांडल से विधायक।
- मेवाड़ में पार्टी का चिर-परिचित जाट चेहरा।
- गहलोत सरकार के दूसरे कार्यकाल में रह चुके मंत्री।

6--शकुंतला रावत
- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की समर्थक।
- बानसूर से लगातार दूसरी बार विधायक।
- महिला गुर्जर नेता के तौर पर चर्चित।
- कांग्रेस आलाकमान के यहां सीधी पहुंच।

7- रमेश मीणा
- सचिन पायलट के समर्थक।
- करौली के सपोटरा से लगातार तीसरी बार विधायक।
- पूर्वी राजस्थान के कद्दावर मीणा नेता।
- भाजपा सांसद किरोड़ी मीणा का तोड़ माना जाता।

8- ममता भूपेश
- सीएम गहलोत की समर्थक।
- दिल्ली दरबार में सीधी पहुंच।
- राज्य मंत्री से केबिनेट में प्रमोट।
- दौसा के सिकराय से दूसरी बार विधायक।

9- गोविंद राम मेघवाल
- बीकानेर के खाजूवाला से विधायक।
- मुख्यमंत्री गहलोत के समर्थक।
- बीकानेर संभाग से बड़ा दलित चेहरा।

10- भजन लाल जाटव
- सीएम गहलोत के समर्थक।
- वैर-भुसावर से दूसरी बार विधायक।
- राज्य मंत्री से कैबिनेट में प्रमोट किए गए।

11-टीकाराम जूली
- कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव भंवर जितेंद्र सिंह के करीबी।
- अलवर ग्रामीण से विधायक।
- राज्यमंत्री से कैबिनेट में प्रमोट किए गए।

गहलोत मंत्रिमंडल के राज्यमंत्री

1--बृजेंद्र ओला
- सचिन पायलट के करीबियों में शुमार।
- सियासी बाड़ाबंदी में थे पायलट कैंप में।
- झुंझुनूं से लगातार तीसरी बार विधायक।
- दिग्गज जाट नेता शीशराम ओलाा के पुत्र।
- गहलोत सरकार के दूसरे कार्यकाल में भी रह चुके मंत्री।

2--मुरारी मीणा
- सचिन पायलट के समर्थक।
- दौसा से कांग्रेस विधायक।
- गहलोत सरकार के दूसरे कार्यकाल में रह चुके मंत्री।

3--राजेन्द्र गुढ़ा
- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थक।
- बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय कराने में अहम रोल।
- झुंझुनूं के उदयपुवाटी से कांग्रेस विधायक।
- गहलोत सरकार के दूसरे कार्यकाल में रह चुके राज्यमंत्री।

4-- जाहिदा खान
- सीएम गहलोत की समर्थक।
- मेव समुदाय में बड़ा नाम।
- भरतपुर के कामां से दूसरी बार विधायक।
- दिवंगत मेव नेता चौधरी तैयब हुसैन की बेटी।

Share this story