कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी डेल्टा वेरियंट दिखा रहा है अपना असर 

Newspoint24 / newsdesk  Delta variant is showing its effect even after taking corona vaccine

Newspoint24 / newsdesk

वैक्सीन लेने के बाद भी लोग हो रहे हैं कोरोना संक्रमित 

 नई दिल्ली। देश में जहां दूसरी लहर के लिए कोरोना का डेल्टा वेरियंट जिम्मेदार है, वहीं इस संबंध में एक और शोध है जो कि चिंता बढ़ाने वाली है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में हुए एक शोध में पाया गया है कि कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी डेल्टा वैरिएंट(B1.617.2) काफी असरदार दिख रहा है। स्टडी बताती है कि कोरोना वायरस का डेल्टा वैरियेंट वैक्सीन के असर को कम कर दे रहा है। वैक्सीन लेने के बाद संक्रमित हुए ज्यादातर लोगों में डेल्टा वेरियेंट ही पाया जा रहा है। एम्स की स्टडी में भी इस बात की पुष्टि हुई है कि डेल्टा वैरिएंट बहुत खतरनाक है।

शोध में सामने आया है कि लोगों ने चाहे कोविशील्ड ली हो या फिर कोवैक्सीन, कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट लोगों को संक्रमित करने में सक्षम है। शोध में ये बताया गया है कि कोरोना वैक्सीन की एक या दोनों डोज लेने के बाद भी डेल्टा वैरिएंट लोगों पर अपना असर दिखा रहा है।  हालांकि, इस शोध रिपोर्ट की अभी समीक्षा किया जाना बाकी है। 

63 लोगों पर किया गया शोध 

एम्स ने अपनी इस स्टडी में 63 लोगों को शामिल किया था जो वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना संक्रमित हो गए थे। इनमें 36 ऐसे लोग भी शामिल थे जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज ले ली थी जबकि 27 लोगों ने वैक्सीन की सिर्फ एक डोज ली थी। इनमें 10 लोगों को कोविशील्ड वैक्सीन लगी थी जबकि 52 लोगों को कोवैक्सीन। एम्स ने बताया कि इन 63 में से 41 पुरुष और 22 महिलाएं हैं। शोध में कहा गया है कि ये सभी 63 लोग वैक्सीन लेने के बाद भी संक्रमित तो हो गए थे, लेकिन इनमें एक की भी मौत नहीं हुई है। हालांकि, इन्हें ज्यादातर लोगों को 5-7 दिनों तक बहुत ज्यादा बुखार रहा था।

Share this story