श्मशान हादसा: ठेकेदार अजय त्यागी की अस्पताल में पिटाई, न्यायिक हिरासत में भेजा गया

Newspoint24.com/newsdesk/

गाजियाबाद । मुरादनगर के उखलारसी श्मशान मामले में गिरफ़्तार किये गए ठेकेदार अजय त्यागी की मंगलवार को एक महिला ने उस समय चप्पलों से पिटाई कर दी जब उसे जिला अस्पताल में मेडिकल के लिए लाया गया था। मौके पर मौजूद पुलिस ने किसी तरह अजय को उसके चंगुल से छुड़ाया और मेडिकल कराने के बाद मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश कर दिया। जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। इसके अलावा पुलिस ने इस मामले में एक अन्य आरोपित संजय गर्ग को भी गिरफ्तार कर लिया है।

श्मशान घाट मामले के मुख्य आरोपित ठेकेदार अजय त्यागी को मुरादनगर पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार किया था। पूछताछ करने के बाद उसे जिला अस्पताल में मेडिकल परीक्षण के लिए ले जाया गया। यहीं पार इस हादसे में घायल हुए जयराम के दामाद का इलाज चल रहा है। अस्पताल में अपने पति के तीमारदारी कर रही महिला पूनम को जब पता लगा कि अजय त्यागी को मेडिकल परीक्षण के लिए अस्पताल लाया गया है तो वह तत्काल वहां पहुंची और अजय त्यागी पर चप्पलों से हमला कर दिया। 

फल विक्रेता जय राम के अंतिम संस्कार में ही शामिल होने गए 25 लोग इस हादसे में मारे गए हैं। इस महिला से जब मीडिया ने पूछा कि ठेकेदार के प्रति इतना गुस्सा क्यों है तो उसने कहा कि अगर अजय त्यागी को इस हादसे में मारे गये 25 लोगों के परिवारों के बीच में छोड़ दिया जाए और उन्हें कुछ भी करने की इजाजत दे दी जाए तो अजय त्यागी को लोग जान से मार देंगे। इसके बाद पुलिस ने अजय त्यागी को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में ले जाकर पेश किया जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। 

इसके अलावा पुलिस ने इस मामले में एक अन्य आरोपित संजय गर्ग को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के  मुताबिक पूछताछ में उसने बताया है कि उन्होंने यह ठेका 55 लाख रुपये में लिया था और 26 लाख रुपये की प्रथम किश्त उन्हें प्राप्त हो गई थी जिसमें से उन्होंने 16 लाख रुपये की धनराशि अधिशासी अधिकारी निहारिका सिंह व सहायक अभियंता सीपी सिंह को दी थी।

Share this story