शमशान हादसा: ईओ निहारिका सिंह की जमानत याचिका खारिज

newspoint24.com/newsdesk

गाजियाबाद। मुरादनगर के उखरारसी श्मशान घाट हादसे की आरोपित नगर पालिका की अधिशासी अधिकारी (ईओ) निहारिका सिंह की जमानत याचिका शुक्रवार को सीजेएम कोर्ट ने खारिज कर दी। निहारिका के अधिवक्ता मनोज सिसोदिया ने कहा कि अब वह सेशन कोर्ट में जमानत के लिए याचिका डालेंगे।

मनोज सिसोदिया ने बताया कि उन्होंने निहारिका की जमानत के लिए गुरुवार को सीजेएम कोर्ट में याचिका दायर की थी जिस पर विचार करने के बाद अदालत ने उसे खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले में लगाई गई धाराओं में उम्र कैद से लेकर 10 साल तक की सजा का प्रावधान है जिनमें सीजेएम कोर्ट को जमानत देने का अधिकार नहीं है। अब वे सत्र न्यायालय में निहारिका की जमानत अर्जी दाखिल करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि अधिशासी अधिकारी का निर्माण कार्य से कोई मतलब नहीं होता है लेकिन जनता का गुस्सा शांत करने के लिए पुलिस ने उनको गिरफ्तार किया है। 

मुरादनगर के उखरारसी श्मशान घाट पर तीन जनवरी को फल विक्रेता यादराम का अंतिम संस्कार करते वक्त घाट का गलियारा की छत गिर गई थी जिसमें 25 लोगों की जान चली गई थी। इस मामले में पुलिस ने मुराद नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी निहारिका सिंह, सहायक अभियंता चंद्रपाल सिंह और सुपरवाइजर के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 409 339 व 427 के तहत मुकदमा कायम किया था। इसी मामले में आज निहारिका निहारिका सिंह की जमानत अर्जी कोर्ट ने खारिज कर दी है। 

Share this story