देश की पहली घटना: असम की महिला चिकित्सक में मिले कोरोना के दो वेरिएंट

देश की पहली घटना: असम की महिला चिकित्सक में मिले कोरोना के दो वेरिएंट

Newspoint 24 / newsdesk 

गुवाहाटी। असम की एक महिला चिकित्सक के शरीर में कोरोना संक्रमण के दो वेरिएंट मिले हैं। संभवतः देश में एक रोगी के शरीर में कोरोना के दो वेरिएंट मिलने की यह पहली घटना है।

जानकारी के अनुसार एक महिला चिकित्सक के शरीर में कोरोना संक्रमण के दो प्रकार (वेरिएंट) मिले हैं। देश में यह अपने तरह का पहला मामला बताया जा रहा है। आश्चर्य की बात यह है कि महिला चिकित्सक ने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले लिया है। महिला चिकित्सक की जांच में यह बात सामने आई है कि उनके शरीर में कोरोना के अल्फा और डेल्टा दोनों प्रकार पाये गये हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार विश्व में एक रोगी के शरीर में कोरोना के दो प्रकार मिलने का पहला मामला बेल्जियम में पाया गया था। बेल्जियम में एक 90 वर्षीय महिला के शरीर में अल्फा और बीटा प्रकार के संक्रमण पाये गये थे। लेकिन महिला ने कोरोना की वैक्सीन नहीं ली थी, जिसकी वजह से महिला की मौत हो गयी थी।

इस संबंध में मीडिया से बातचीत में असम के डिब्रूगढ़ जिला स्थित आईसीएमआर- आरएमआरसी नोडल अधिकारी बिश्वज्योति बरकाकती ने बताया कि महिला चिकित्सक के शरीर में कोरोना के दो प्रकार पाये गये हैं। यह देश में अपने तरह का पहला मामला है। महिला चिकित्सक डिब्रूगढ़ जिले में ही पोस्टेड हैं।

डॉ बिश्वज्योति ने बताया है कि महिला चिकित्सक के पति कोरोना संक्रमित थे। पति के संक्रमित होने की जानकारी मिलने पर महिला चिकित्सक ने अपनी जांच करवायी तो वे भी पॉजिटिव पायी गयीं। महिला चिकित्सक की जांच रिपोर्ट में देखा गया कि उनके शरीर में कोरोना के अल्फा और डेल्टा दोनों प्रकार के संक्रमण मौजूद हैं। इसके बाद संक्रमण के दोनों प्रकारों को सुनिश्चित करने के लिए उनकी पुनः जांच की गयी।

महिला चिकित्सक के शरीर में कोरोना के मामूली लक्षण हैं। उनकी स्थिति वर्तमान समय में ठीक है और उनका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

उल्लेखनीय है कि देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति में काफी सुधार होता दिखाई दे रहा है।इसके बावजूद संक्रमण के वेरिएंट में तेजी से बदलाव भी देखा जा रहा है। गुवाहाटी में कोरोना वायरस का महिला चिकित्सक में दो वेरिएंट पाए जाने का मामला सामने आने से यहां सनसनी फैल गयी है।

Share this story