कोवीशील्ड वैक्सीन के अदार पूनावाला का बड़ा आरोप सीएम से लेकर कुछ पावरफुल लोग वैक्सीन के लिए उन्हें धमकियां दे रहे हैं 

कोवीशील्ड वैक्सीन के अदार पूनावाला का बड़ा आरोप सीएम से लेकर कुछ पावरफुल लोग वैक्सीन के लिए उन्हें धमकियां दे रहे हैं

Newspoint24 /newsdesk 

लंदन।  कोरोना वैक्सीन का निर्माण करने वाली सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के CEO अदार पूनावाला फ़िलहाल लंदन में  हैं।   उन्होंने एक newspaper द टाइम्‍स को दिए इंटरव्‍यू में कहा भारत में वैक्सीन को लेकर बहुत दबाव है। सप्लाई के लिए लगातार फोन कॉल्स आ रही हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि वैक्सीन के लिए उन्हें धमकियां तक मिल रही हैं। देश के कुछ पावरफुल लोग भी वैक्सीन सप्लाई के लिए दबाव बना रहे हैं। 

 अदार पूनावाला ने आरोप लगाया कि उन्हें धमकी भरे फोन कॉल्स सिर्फ ताकतवर लोग ही नहीं, बल्कि कुछ राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री, बिजनेसमैन भी शामिल हैं।  कॉल करके कोविशील्‍ड की तत्‍काल आपूर्ति की मांग की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोविशील्ड वैक्सीन पाने की उम्मीद और आक्रामकता का लेवल काफी ऊपर है। हर किसी को यह सबसे पहले चाहिए। वहीं, उन्होंने यह भी संकेत दिए हैं कि वो वैक्सीन के निर्माण के विस्तार की योजना के साथ लंदन आए हैं।


पूनावाला ने गंभीर रूप से आरोप लगाया कि फोन पर कहा जाता है कि हमें वैक्सीन नहीं दोगे तो अच्छा नहीं होगा। यह बात करने का तरीका नहीं हो सकता।  यह सीधे तौर पर धमकी है।  इस तरह के कॉल्स और घटनाओं की वजह से ही वैक्सीन निर्माण भी प्रभावित हो रहा है।  हम ठीक तरह से काम नहीं कर पा रहे हैं। 

पूनावाला को बुधवार को Y कैटेगरी की सिक्योरिटी मिली थी। केंद्र सरकार के अधिकारियों ने बताया था कि पूनावाला पर खतरे की आशंका को देखते हुए उन्हें सिक्योरिटी दी गई है। अब सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) के 4-5 कमांडोज के साथ 11 सुरक्षाकर्मी हर वक्त पूनावाला के साथ रहेंगे। यह सिक्योरिटी कवर उन्हें पूरे देश में मिलेगा।


पूनावाला ने फोन कॉल का जिक्र करते हुए कहा कि लोगों का इस तरह धमकी देना समझ से परे है। वैक्सीन सप्लाई को लेकर मुझ पर भारी दबाव डाला जा रहा है। उम्मीद नहीं थी कि लोग इतनी ज्यादा अपेक्षा करने लगेंगे। सभी चाहते हैं कि उन्हें पहले वैक्सीन मिले। उन्हें लगता है कि उनसे पहले किसी और को वैक्सीन नहीं मिलना चाहिए।


उन्होंने आगे कहा कि फोन करने वाले कहते हैं कि अगर हमें वैक्सीन नहीं दोगे तो अच्छा नहीं होगा। ये बात करने का तरीका नहीं है, ये सीधे तौर पर धमकी है। वे समझाने की कोशिश करते हैं कि अगर मैंने उनकी बात नहीं मानी तो क्या हो सकता है। उन्होंने कहा कि इन घटनाओं के कारण ही हम अपना काम ठीक तरह से नहीं कर पा रहे हैं।


पूनावाला इस समय लंदन में हैं। ब्रिटेन में भारतीयों की एंट्री पर बैन लगने से पहले ही वे वहां पहुंच गए थे। उन्होंने कहा कि मैंने लंबे समय तक यहीं रहने का मन बना लिया है। ऐसे हालात में मैं भारत वापस नहीं जाना चाहता। सब कुछ मेरे कंधों पर डाल दिया गया है, लेकिन मैं अकेला ये सब नहीं कर सकता।
 

Share this story