बिहार के नालंदा में संदिग्ध परिस्थिति में 10 लोगों की मौत , रात में शराब पीकर सोए थे, अचानक तबीयत बिगड़ी और देखते ही देखते मर गए 

10 people died under suspicious circumstances in Nalanda, Bihar, had slept in the night after drinking alcohol, suddenly his health deteriorated and died on sight

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

पटना। बिहार के नालंदा में संदिग्ध परिस्थिति में 10 लोगों की मौत हो गई। परिजन शराब पीने के बाद तबीयत बिगड़ने की बात कह रहे हैं। यह घटना जिले के सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी और पहाड़ तल्ली मोहल्ला की है। मरने वालों में भागो मिस्त्री (55), मन्ना मिस्त्री (55), सुनिल कुमार (24), धर्मेंद्र उर्फ नागेश्वर (50), अर्जुन पंडित (51), कालीचरण (50), राजेश कुमार (42), रामपाल शर्मा और मानपुर थाना क्षेत्र के प्रभु विगहा गांव के रामरूप चौहान (45) व शिवजी चौहान (45) शामिल है। वहीं, सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी निवासी ऋषि कुमार की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

मौत की सूचना मिलने के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद के बाद सदर DSP डॉ शिब्ली नोमानी ने मौके पर पहुंच कर परिजन से जानकारी ली। हालांकि, अभी तक जहरीली शराब पीने से मौत की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। मगर स्थानीय लोग इस इलाके में चुलाई शराब बनाने की बात बता रहे हैं। बताया जाता है कि सभी लोगों की शराब पीने के बाद देर रात अचानक तबीयत बिगड़ी और देखते-देखते उनकी मौत हो गई।

 मृतक भागो मिस्त्री की बहू ललिता देवी ने बताया, 'रात में पति को बेचैनी महसूस हुई। इसके बाद पानी पीने का दिया। अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में उनकी मौत हो गई। उसने गांव में बिक रही शराब पी थी।' मृतक मन्ना मिस्त्री की बेटी ज्योति कुमारी ने बताया, 'पिता लगातार 4 दिन से शराब पी रहे थे। कल अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई। इसके बाद निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।' मन्ना की पत्नी सरस्वती देवी ने DM और SP से आरोपियों के ऊपर कार्रवाई करनी की मांग की है।

उनका कहना है कि अगर प्रशासन चाहे तो शराब क्या उसकी एक बूंद पानी मिलना तक मुमकिन नहीं होगा। उन्होंने कहा कि घर चलाने वाला अब इस दुनिया में नहीं रहा। अब उनकी जिंदगी कैसे गुजरेगी। मन्ना अपने पीछे चार बेटे और दो बेटियों को छोड़ गए हैं।

इधर, डीएम शशांक शुभंकर ने भी मौके पर पहुंचकर परिजनों से बातचीत की है। इस दौरान उन्होंने कहा, 'सोहसराय थाना क्षेत्र से कुल 3 लोगों की मौत की बात सामने आई है। इसमें एक की मौत की वजह पैरालिसिस है। बाकी दो अन्य लोगों में से एक कभी-कभी शराब पीने की कोशिश करता था। जिससे वह बीमार हो गया था। ऐसे में उसकी मौत हो गई। तीसरे व्यक्ति की मौत कैसे हुई है, इसकी जानकारी परिजनों से अभी तक नहीं मिली है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगा की मौत कैसे हुई।'

फिलहाल पूरे जिला बल को बुलाकर एसपी के नेतृत्व में क्षेत्र में कांबिंग ऑपरेशन किया जा रहा है। हर घर में सघन जांच अभियान चलाई जा रही है। कुछ अन्य लोगों के भी बीमार होने की सूचना है। जांच की जा रही है।

गौरतलब है कि इससे पहले अक्टूबर-नवंबर 2021 में भी गोपालगंज, बेतिया और समस्‍तीपुर में जहरीली शराब से 40 की मौत के बाद 568 को गिरफ्तार किया गया था।

यह भी पढ़ें : 

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने राजस्थान के अलवर की अल्पसंख्यक समुदाय की लड़की के खिलाफ यौन हिंसा के मामले में प्रदेश सरकार 24 जनवरी तक रिपोर्ट मांगी

Share this story