बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद के मुंबई स्थित कार्यालयों और उपनगरों में स्थित घरों का सर्वेक्षण कर आयकर विभाग

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद के मुंबई स्थित कार्यालयों और उपनगरों में स्थित घरों का सर्वेक्षण कर आयकर विभाग

newspoint 24 / newsdesk / एजेंसी इनपुट के साथ 

मुंबई। आयकर विभाग बुधवार को यहां बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद के मुंबई स्थित कार्यालयों और उपनगरों में स्थित घरों का सर्वेक्षण कर रहा है। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।
आईटी अधिकारियों की टीमों ने सुबह से ही अभियान शुरू कर दिया था, हालांकि कार्रवाई के पीछे के कारणों का तत्काल पता नहीं चल पाया है।

गौरतलब है कि कि कोविड महामारी के दौरान लोगों की जमकर मदद करके सोनू सूद मीडिया और आम लोगों की जमकर प्रशंसा हासिल कर चुके हैं। कोरोना महामारी के दौरान सोनू सूद ने बड़ी संख्या में घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों की आर्थिक मदद की थी। उन्होंने ऐसे मजदूरों के सफर को सुविधाजनक बनाने के लिए भोजन, वाहन आदि का इंतजाम भी किया था।

सोनू सूद सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहते हैं। हालांकि उन्होंने आयकर विभाग के इस सर्वे को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

यह टैक्स सर्वे सोनू सूद को अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार की ओर से स्कूल स्टूडेंट्स के मेंटोरशिप प्रोग्राम का ब्रांड एंबेसडर बनाए जाने के कुछ दिन बाद सामने आया है।

बीजेपी का बयान 

यह नोटिस मनी लॉन्डरिंग मामले से जुड़ा हुआ है। 

सोनू सूद के यहाँ हुए सर्वे को आम आदमी पार्टी से उनके रिश्ते के साथ जोड़ा जा रहा है। 

बीजेपी के प्रवक्ता आसिफ़ भामला ने इससे इनकार किया है। उन्होंने कहा, आयकर सर्वे का इससे कोई मतलब नहीं है। कोई आदमी किसी से मिल सकता है। यह तो सिर्फ सर्च है, छापा नहीं। यह निश्चित जानकारी के आधार पर ही किया गया है।

उन्होंने इसके आगे कहा, "यह कोई ज़रूरी नहीं कि जो व्यक्ति दान- पुण्य का काम करता है, उसने कोई गड़बड़ी न की हो। आयकर विभाग स्वतंत्र है और वह अपनी मर्जी से फ़ैसले लेता है।" 

याद दिला दें कि इसके पहले सोनू सूद उस समय चर्चा में आए थे जब उन्होंने कोरोना की पहली लहर के दौरान हुए लॉकडाऊन में फँसे लोगों को उनके घर पहुँचाने में मदद की थी। उन्होंने  सैकड़ों लोगों को महाराष्ट्र और दूसरी जगहों से उनके बिहार व उत्तर प्रदेश स्थित गृह नगर तक ले जाने का इंतजाम किया था। 

सोनू सूद की इससे काफी प्रतिष्ठा हुई थी और समाज के एक वर्ग के असली हीरो बन गए थे। 
 

Share this story