हवाई मालवहन की मांग अप्रैल में 12 प्रतिशत बढ़ी

हवाई मालवहन की मांग अप्रैल में 12 प्रतिशत बढ़ी

Newspoint24.com/newsdesk

जिनेवा। हवाई मालवहन की मांग इस साल अप्रैल में कोविड-पूर्व स्तर के मुकाबले 12 प्रतिशत बढ़ गई।

अंतरराष्ट्रीय हवाई परिवहन संघ (आयटा) की आज जारी रिपोर्ट में बताया गया है, “कार्गो टन-किलोमीटर में हवाई माल परिवहन की वैश्विक मांग अप्रैल 2019 के मुकाबले अप्रैल 2021 में 12 प्रतिशत बढ़ गई। मार्च 2021 की तुलना में भी इसमें 7.8 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई है। अगस्त 2018 के कोविड-पूर्व काल के उच्चतम स्तर से यह पांच प्रतिशत अधिक है।”

आयटा ने स्पष्ट किया है कि कोविड-19 के कारण हवाई परिवहन में काफी उथल-पुथल रहा है। इस कारण अप्रैल 2020 और अप्रैल 2021 के आंकड़ों की तुलना नहीं की जा सकती है। इसलिए अप्रैल 2019 के आंकड़ों से तुलना की गई है।

इस साल अप्रैल के मजबूत आंकड़ों में सबसे अधिक योगदान उत्तरी अमेरिका की ​विमान सेवा कंपनियों का रहा। 12 प्रतिशत की वृद्धि में 7.5 प्रतिशत का योगदान इन्हीं का है। लातिन अमेरिका को छोड़कर अन्य सभी क्षेत्रों में आंकड़ों में वृद्धि देखी गई है।

आयटा के महानिदेशक विली वॉल्स ने कहा, “हवाई परिवहन क्षेत्र में माल परिवहन 'अच्छी खबर' बना हुआ है। कोविड-पूर्व स्तर की तुलना में मांग 12 प्रतिशत अधिक है और कंपनियों का मुनाफा काफी अधिक है। कुछ क्षेत्रों का प्रदर्शन वैश्विक औसत से ​अधिक है, खासकर उत्तरी अमेरिका, पश्चिम एशिया और अफ्रीका का। हालांकि हर क्षेत्र का प्रदर्शन मजबूत नहीं रहा है। उदाहरण के लिए लातीन अमेरिका में सुधार नहीं दिख रहा।”

रिपोर्ट में कहा गया है कि मांग में वृद्धि के बावजूद यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध के कारण मालवहन क्षमता कोविड-पूर्व स्तर की तुलना में 9.7 प्रतिशत कम रही। यात्री विमानों की बेली में उपलब्ध जगह की कमी को विमान सेवा कंपनियों ने समर्पित कार्गो विमानों का परिचालन कर पूरा किया। बेली में उपलब्ध क्षमता में अप्रैल में 38.5 प्रतिशत की कमी आई जबकि समर्पित मालवहन उड़ानों की संख्या 26.2 प्रतिशत बढ़ी।

Share this story