औषधि महानियंत्रक ने बच्चों को कोवैक्सिन का टीका देने की मंजूरी दी इस महीने के अंत इसका इस्तेमाल शुरू हो जायेगा 

औषधि महानियंत्रक ने बच्चों को कोवैक्सिन का टीका देने की मंजूरी दी इस महीने के अंत इसका इस्तेमाल शुरू हो जायेगा

Newspoint24 / newsdesk / एजेंसी इनपुट के साथ 

दो वर्ष से अधिक आयु के बच्चों को देने की मंजूरी देने का फैसला
कोवैक्सिन के सितंबर में बच्चों पर तीन चरणों में परीक्षण पूरे 
विभिन्न आयु वर्ग के पांच सौ से अधिक बालकों पर किये गये परीक्षण 
टीका दो खुराक में दिया जायेगा

नयी दिल्ली। भारतीय औषधि महानियंत्रक की एक विशेषज्ञ समिति ने मंगलवार को भारत में निर्मित कोविड टीके - कोवैक्सिन को दो से 18 वर्ष के बच्चों को लगाने की मंजूरी दे दी।

यह मंजूरी आपात प्रयोग के लिये दी गयी है और उम्मीद है कि इस महीने के अंत इसका इस्तेमाल आरंभ हो जायेगा।

भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोवैक्सिन के सितंबर में बच्चों पर तीन चरणों में परीक्षण पूरे हो चुके हैं। ये परीक्षण विभिन्न आयु वर्ग के पांच सौ से अधिक बालकों पर किये गये थे। इनके बारे में विस्तृत रिपोर्ट इस महीने के शुरू में भारतीय औषधि महा नियंत्रक को सौंप दी गयी थी।

सूत्रों के अनुसार विस्तृत अध्ययन के बाद संबंधित समिति ने कोवैक्सिन का टीका दो वर्ष से अधिक आयु के बच्चों को देने की मंजूरी देने का फैसला किया। बच्चों पर कोवैक्सिन टीका असर लगभग वहीं रहा है जो व्यस्क लोगों पर रहाा है।

बच्चों को यह टीका दो खुराक में दिया जायेगा और इसमें 20 दिन का अंतराल होगा।

सूत्रों के अनुसार टीका निर्माता को बच्चों पर कोवैक्सिन टीके के प्रभाव का अध्ययन जारी रखना होगा और संबंधित रिपोर्ट उपयोगकर्ताओं को देनी होगी।

इस बीच, देश में कोविड टीकाकरण का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है और यह 96 करोड़ के आंकड़े को पार कर गया है। देश में 18 वर्ष से अधिक आयु की 75 प्रतिशत आबादी का कोविड टीकाकरण हो चुका है।

सूत्रों ने बताया कि जायडस के कोविड टीके को भी मंजूरी देने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है।
 

Share this story