यूपी में दस मई तक बढ़ाया गया लॉक डाउन , जनपद की सीमा के साथ अंतर्जनपदीय सीमा के लिए भी ई-पास जरूरी 

यूपी में दस मई तक बढ़ाया गया लॉक डाउन , जनपद की सीमा के साथ अंतर्जनपदीय सीमा के लिए भी ई-पास जरूरी 

Newspoint24 / newsdesk 


लखनऊ । उत्तर प्रदेश में लागू आंशिक करोना कर्फ्यू छह मई को खत्म नहीं होगा। योगी सरकार ने इसे 10 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। अब कर्फ्यू दस मई की सुबह सात बजे तक जारी रहेगा। इस दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी।

सरकार ने प्रदेश में कोरोना के मामलों में कमी नहीं होने के कारण ऐसा निर्णय लिया है। इसके पहले प्रदेश में लागू करोना कर्फ्यू 06 मई यानी कल सुबह 07 बजे खत्म होने वाला था। लेकिन अब सरकार ने और चार दिन के लिए बढ़ा दिया है। योगी सरकार ने कहा है कि इस दौरान जरूरी सेवाएं पहले की तरह उपलब्ध होती रहेंगी। 

बता दें कि प्रदेश के शहरों के बाद गांवों में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए ऐसा निर्णय लिया है। इस पूरे कर्फ्यू के दौरान मेडिकल स्टोर को छोड़कर अन्य सभी प्रकार की दुकाने बंद रहेंगी। सरकार सेंटाइजेशन का काम करवाएगी।

सरकार की मानें तो संक्रमण पर व्यापक नियंत्रण के लिए लॉकडाउन को बार-बार बढ़ाना पड़ रहा है। सरकार ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जरूरी सेवाएं हर हाल में बहाल होनी चाहिए। इस दौरान कालाबाजारी पर भी नजर रखने को सरकार ने सख्त हिदायत दी है। 
 फिलहाल राज्‍य में आवश्यक सेवाओं के साथ टीकाकरण का काम जारी रहेगा। इसके साथ यूपी सरकार ने आवश्यक वस्तुओं और आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के लिए ई-पास (E-Pass) जारी करने की व्यवस्था शुरू कर दी है। 


उत्तर प्रदेश  में आवश्यक वस्तुओं के आवागमन के लिए ई-पास जारी किए जा रहे हैं और आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति करने वाली संस्थाओं को पास लेना होगा। इतना ही   नहीं, अब आम लोग भी चिकित्सा सेवा के लिए ई-पास अप्लाई कर सकते हैं ।  वहीं, अगर आपको जरूरी सेवा नहीं मिल पा रही है, तो मुख्यमंत्री हेल्प नंबर 1076 पर शिकायत कर सकते हैं। 

ये है तरीका जिससे आप हासिल कर सकते हैं ई-पास

यूपी में ई-पास हासिल करने के लिए rahat.up.nic.in पर उपलब्ध लिंक rahat.up.nic/epass के माध्यम से आवदेन दे सकते हैं।  इस पोर्टल में संस्थागत ई-पास का भी प्रावधान है, जिसमे संस्था आवेदक सहित 5 कर्मियों के लिए आवेदन का नियम है।   सभी आवेदनों का परीक्षण /सत्यापन अधिकृत अधिकारी करेंगे और फिर उसके बाद ही ई-पास जारी होगा।   ई-पास आवेदक के मोबाइल पर मैसेज (SMS) में दिए गए लिंक पर प्राप्त किया जा सकता है और इसकी इलेक्ट्रॉनिक कॉपी भी मान्य होगी। 

सभी जनपद की सीमा के साथ अंतर्जनपदीय सीमा के लिए भी ई-पास

यूपी में अब जनपद की सीमा के साथ अंतर्जनपदीय सीमा के लिए भी पास जारी किए जाएंगे।  इस दौरान संस्थाओं के लिए ई-पास की समय सीमा सम्पूर्ण अवधि तक होगी।  जबकि आम जनता के लिए जनपदीय पास की वैधता 1 दिन और अंतर्जनपदीय पास की वैधता 2 दिन के लिए होगी।   चेकिंग के दौरान ई-पास का सत्यापन क्यूआर कोड के माध्यम से पुलिसकर्मियों द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा। 

Share this story