असम : पथराकंडी में जिस कार में  EVM रखी थी वो चुनाव आयोग की नहीं बीजेपी उम्मीदार की कार थी , कांग्रेस ने खड़े किए सवाल 

Newspoint24 / newsdesk 

नयी दिल्ली। असम में बीती रात को पोखरंडी विधानसभा, में जब कार से ईवीएम ले जाया जा रहा था तो वहां एकत्र भीड़ ने कार को रोकलिया । भीड़ में शामिल लोगों का आरोप है कि कार चुनाव आयोग की नहीं थी।  समाचार एजेंसी  एएनाई ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि चुनाव आयोग की कार खराब हो गई थी। असम में गुरुवार को दूसरे चरण का मतदान संपन्न हुआ। मतदान खत्म होने के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कथित रूप से पथरकंडी के बीजेपी उम्मीदवार कृष्णेंदु पॉल की कार में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) दिख रही है। इस घटना को लेकर कांग्रेस ने बीजेपी पर हमला बोला है। 

चुनाव आयोग ने कहा अपनी रिपोर्ट में कहा कि पोलिंग पार्टी 149 - इंदिरा एमवी स्कूल ऑफ एलएसी 1 रतबारी (एससी) की के पास की घटना है । पोलिंग पार्टी में एक पीठासीन अधिकारी और 3 मतदान कर्मी शामिल थे। उनके साथ एक कांस्टेबल और एक होमगार्ड शामिल पुलिस कर्मी थे। 


कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि चुनाव आयोग को इस तरह की शिकायतों पर निर्णायक कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि बीजेपी अपने मीडिया तंत्र का उपयोग उन लोगों पर आरोप लगाने के लिए करती है जिन्होंने उनका पर्दाफाश किया। प्रियंका गांधी ने कहा कि 'हर बार जब ईवीएम किसी निजी गाड़ी में पकड़ी जाती है तो अप्रत्याशित रूप से उनमें यह चीजे होती हैं:

1. वाहन आमतौर पर बीजेपी उम्मीदवारों या उनके सहयोगियों के होते हैं। 

2. वीडियो को सिर्फ एक घटना मान कर भ्रम के रूप में खारिज कर दिया जाता है। 

3. बीजेपी अपने मीडिया तंत्र का इस्तेमाल उन लोगों पर आरोप लगाने के लिए करती है जिन्होंने वीडियो के जरिए पर्दाफाश किया।



वहीं कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने ट्वीट किया, 'सिर्फ इसी रास्ते से बीजेपी असम जीत सकती है- ईवीएम लूटकर। ईवीएम कैप्चरिंग, जैसे बूथ कैप्चरिंग हुआ करती थी। यह सब चुनाव आयोग की नाक के नीचे हो रहा है। लोकतंत्र के लिए दुखद दिन।'


दूसरी ओर मामला तूल पकड़ने के बाद एएनाई ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि चुनाव आयोग की कार खराब हो गई थी। ऐस में अधिकारियों ने रास्ते में गुजर रही कार में लिफ्ट ली, बाद में कार को बीजेपी उम्मीदवार के रूप में पहचाना गया। 
सूत्रों के मुताबिक अज्ञात व्यक्तियों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है जिन्होंने मतदान की ईवीएम ले जा रही कार पर हमला किया। सूत्रों ने बताया कि घटनाओं के अनुक्रम के बारे में आगे की जांच की जा रही है, भीड़ के हमले के दौरान ईवीएम के साथ छेड़छाड़ नहीं की गई और प्रशासन के संरक्षण में है।

 कांग्रेस नेता सुष्मिता देव ने कहा की यह एक आपराधिक कृत्य है और हम उम्मीदवार को तत्काल अयोग्य घोषित करने की मांग करते हैं। यह स्पष्ट है कि भाजपा असम में हार रही है यही कारण है कि चुनाव जीतने के लिए अवैध साधनों का उपयोग कर रही है, जो अस्वीकार्य है। 

Share this story