देश में ओमिक्रॉन के कुल 2,135 मामले ,बीते 24 घंटे में कोरोना मरीजों की संख्या में 56 फीसदी वृद्धि के साथ 58 हजार से अधिक , 534 लोगों की मौत 

With 56 percent increase in the number of corona patients in the country in the last 24 hours, more than 58 thousand people died, 534 people, total 2,135 cases of Omicron

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ


 
 नई दिल्ली। देश में बीते 24 घंटे में कोरोना मरीजों की संख्या में 56 फीसदी वृद्धि के साथ 58 हजार से अधिक 58,097 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान जहां 534 लोगों की मौत भी हो गई है, वहीं 15,389 लोग स्वस्थ भी हुए। दैनिक संक्रमण दर 4.18 फीसदी हो गई है। सक्रिय मामलों ने और भी अधिक चिंता बढ़ा दी है। दरअसल देश में अब दो लाख 14 हजार से अधिक सक्रिय मरीज हो गए हैं।

 
 वैक्सीनेशन का आंकड़ा 147 करोड़ को पार कर गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, बिहार, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश, केरल, गोवा, पंजाब और तेलंगाना में मामले में तेजी से वृद्धि देखी गई है, और यही वजह रही है कि कोरोना का आंकड़ा 58 हजार को पार कर गया।

 
देश में ओमिक्रॉन के कुल 2,135 मामले
स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बुधवार को जारी आंकड़े के अनुसार देश में ओमिक्रॉन के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 2,135 हो गई है। 653 मामलों के साथ महाराष्ट्र पहले स्थान पर तो 464 मरीजों के साथ दिल्ली दूसरे स्थान पर है। ओमिक्रॉन के 2,135 मरीजों में से 828 मरीज रिकवर भी हो गए हैं।

 
राज्यों के ताजा आंकड़े
महाराष्ट्र,(18,466), दिल्ली(5,481), बंगाल(9,073), कर्नाटक(2,479),केरल(3,640) तमिलनाडु(2,731), गुजरात(2,265), राजस्थान(1,137), तेलंगाना(1,052),पंजाब(1,027), बिहार(893), ओडिशा(680), गोवा(592), आंध्र प्रदेश(334), हिमाचल में 260 मामले हैं।

 
बता दें मंगलवार को जारी आंकड़े के अनुसार बीते 24 घंटे में कोरोना के 37,379 नए मामले सामने आए थे लेकिन बुधवार के आंकड़े के अनुसार लगभग 58 हजार मामले आए हैं जो कि कल की तुलना में लगभग 56 फीसदी से भी अधिक है।

 
पिछले साल 28 जनवरी को भी देखी गई थी यह वृद्धि
पिछले साल 28 जनवरी, 2021 को भी मामले में इसी तरह की तेजी देखी गई थी और ऐसा इसलिए था क्योंकि गणतंत्र दिवस पर परीक्षण में व्यवधान के कारण पिछले दिन की गिनती में तेजी से गिरावट आई थी। लेकिन अभी तो गणतंत्र दिवस दूर है और इस तरह से मामले आना चिंताजनक है।

यह भी पढ़ें : 

आईआईटी के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रोफेसर मणींद्र अग्रवाल का दावा दिल्ली-मुंबई में इसी माह पीक पर आ सकता है कोरोना
 

Share this story